Breaking News






Home / Breaking News / किसानों की बैठक बेनतीजा: सिरसा छावनी में तब्दील, सुरक्षाबलों की दर्जनों कंपनियां बुलाई गईं, पुलिसवालों की छुट्टियां रद्द

किसानों की बैठक बेनतीजा: सिरसा छावनी में तब्दील, सुरक्षाबलों की दर्जनों कंपनियां बुलाई गईं, पुलिसवालों की छुट्टियां रद्द

(रफतार न्यूज ब्यूरो) : विधानसभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा की गाड़ी पर पथराव के आरोपी पांच किसानों पर राजद्रोह के तहत केस दर्ज करने के मामले में शुक्रवार को प्रशासन की किसान नेताओं के साथ बैठक बेनतीजा रही। किसान संगठन पांचों किसानों की रिहाई की मांग पर अड़े रहे। इसके बाद किसानों ने शनिवार को एसपी कार्यालय का घेराव करने का एलान कर दिया है। इसके चलते प्रशासन ने सतर्कता बढ़ा दी है और भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। लघु सचिवालय में उपायुक्त अनीश यादव, पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन, एडीसी उत्तम सिंह ने लघु सचिवालय में किसान लखविंद्र सिंह औलख, मैक्स साहुवाला, हैप्पी रानियां, गुरप्रेम देसूजोधा, बलवंत सिंह के साथ बैठक की। किसानों ने कहा कि पुलिस ने 11 जुलाई के दिन उनके किसान नेताओं को गिरफ्तार किया, जबकि वे शांतिमय तरीके से रोष प्रदर्शन कर रहे थे।

किसानों ने कहा कि पुलिस ने उनके खिलाफ राजद्रोह की धारा किस आधार पर लगाई। हमने क्या अपने ही देश के खिलाफ विद्रोह किया। इस पर पुलिस अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। वहीं बैठक में प्रशासन द्वारा किसानों से कहा गया कि वे शहीद भगत सिंह स्टेडियम के बजाय दशहरा ग्राउंड और ग्लोबल सिटी स्पेस में प्रदर्शन करें। शहीद भगत सिंह स्टेडियम में भीड़ इकट्ठा करने पर अनियंत्रित हो सकती है। इसके जवाब में बैठक में शामिल किसान नेताओं ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के निर्देश पर यह फैसला लिया गया है। वहीं उन्होंने स्पष्ट कहा कि उन्होंने शहीद भगत सिंह स्टेडियम में ही किसानों को इकट्ठा करने की कॉल की है, किसान अपने वाहन तो दशहरा ग्राउंड में खड़े कर सकते हैं। मगर एसपी कार्यालय का घेराव हर हाल में किया जाएगा।

किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर लघु सचिवालय के मुख्यद्वार समेत आसपास के इलाके को सील कर दिया गया। सिरसा पुलिस ने प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस की पांच कंपनियां, आर्म्ड पुलिस की चार कंपनियां, आईआरबी की चार कंपनियां समेत रैपिड एक्शन फोर्स की 10 कंपनियां मांगी है। शुक्रवार शाम तक रैपिड एक्शन फोर्स की चार व महिला पुलिस की तीन कंपनियां सिरसा पहुंच भी गई। ड्रोन से भी प्रदर्शन पर नजर रखी जाएगी। इससे पहले इस मामले पर शुक्रवार को प्रशासन की किसान नेताओं के साथ बैठक बेनतीजा रही। किसान संगठन पांचों किसानों की रिहाई की मांग पर अड़े रहे। किसान नेता लखविंद्र सिंह औलख ने बयान जारी कर कहा कि पांचों किसानों की रिहाई के लिए एसपी कार्यालय का घेराव किया जाएगा। यह घेराव अनिश्चितकालीन होगा। इसके लिए संयुक्त किसान मोर्चा से जगजीत सिंह दल्लेवाल, बलदेव सिंह सिरसा और अभिमन्यु कोहाड़ सिरसा पहुंचेंगे। औलख ने कहा कि इसमें पंजाब, राजस्थान के भी किसान शामिल होंगे। यह घेराव तब तक जारी रहेगा, जब तक पांचों किसानों की रिहाई नहीं होती।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने शुक्रवार को छुट्टी पर गए कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है। साथ ही नई छुट्टी के लिए आए आवेदनों को रोक दिया गया। सभी पुलिस कर्मचारियों को ड्यूटी पर से बुला लिया गया। वहीं पुलिस ने बाल भवन, सदर थाना, दक्ष प्रजापति चौक के पास अवरोधक लगाने शुरू कर दिए। पुलिस विभाग ने अधीनस्थ स्टाफ को बाहर से आई पुलिस कर्मचारी और रैपिड एक्शन फोर्स की संख्या को देखकर पांच हजार कर्मचारियों का खाना तैयार करने का आदेश दिया गया है। किसानों को अलग जगह रोष प्रदर्शन करने के लिए कहा गया है। रिहायशी एरिया में पुलिस तैनात की जाएगी। किसानों के आंदोलन पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन से निगरानी करेगी। अवरोधक लगा दिए गए हैं। अतिरिक्त पुलिस बल भी बुला लिया गया है। कानून व्यवस्था को भंग करने की इजाजत किसी को नहीं देंगे। – अर्पित जैन, एसपी सिरसा।

 

About admin

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share