Breaking News






Home / Breaking News / Home » News » Ajab-Gajab China Dog Auction: ‘डरपोक’ कुत्तों को नीलाम कर रही है चीनी सरकार, आसान नहीं है इनकी भी नौकरी

Home » News » Ajab-Gajab China Dog Auction: ‘डरपोक’ कुत्तों को नीलाम कर रही है चीनी सरकार, आसान नहीं है इनकी भी नौकरी

(रफतार न्यूज ब्यूरो)  -चीन (China) में कॉम्पटीशन का लेवल ये है कि इंसान ही नहीं, कुत्तों की भी नौकरी सुरक्षित नहीं है. चीन की पुलिस एकेडमी (China Police Academy) ने अपनी टीम से ऐसे कुछ कुत्तों को बाहर निकालने का फैसला किया है जो डरपोक हैं. ये खबर जैसे ही बाहर आई, चीनी सोशल मीडिया वीबो (Chinese Social Media Viebo) पर लोग इसका मज़ाक बनाने लगे. खैर, चीनी पुलिस को इससे फर्क नहीं पड़ता और 54 डरपोक कुत्तों की नीलामी (China Dog Auction) वो कर रहा है.

जिन कुत्तों की नीलामी हो रही है, इन्हें कायर और डरपोक माना गया है. कुल 54 डरपोक कुत्तों की नीलामी (Dogs Auction in China) चीन के लियाओनिंग प्रांत (Liaoning province) में होगी. ये वही कुत्ते हैं, जो पुलिस एकेडमी के ट्रेनिंग कार्यक्रम को पास करने में नाकामयाब रहे. अब इन्हें नीलाम किया जा रहा है. ये कुत्ते पूरी तरह ट्रेंड हैं. इनमें जर्मन शेपर्ड एवं बेल्जियम मालिनोइस नस्ल के भी कुत्ते शामिल हैं.

कुत्तों की नीलामी पुलिस एकेडमी परिसर में ही होगी. इन कुत्तों को उन्हीं लोगों को दिया जाएगा, जो सरकारी गाइडलाइंस का पालन करेंगे. पुलिस एकेडमी ने इन कुत्तों के बारे में बताया कि ये छोटे, डरपोक, कमज़ोर और आज्ञा नहीं मानने वाले हैं. इनमें से कुछ तो इतने डरपोक हैं कि किसी को काटते भी नहीं, भले ही इन्हें दूसरों को काटने के लिए कहा जाए. जो भी इनकी नीलामी के दौरान बोली लगाएगा, उसका सभी सरकारी नियमों का पालन करना ज़रूरी होगा. इन नियमों में कुत्ते का ख्याल रखना, उसे दोबारा नहीं बेचना और उसे नहीं मारने तक का नियम शामिल है. इन कुत्तों की कीमत 200 युआन यानि भारतीय मुद्रा में लगभग 2200 रुपये रखा गया है. खी गई है.

जर्मन शेपर्ड अपने शांति, बुद्धि, वफादारी, ताकत और एथलेटिक बिल्ड अप के लिए जाने जाते हैं. यही वजह है कि पुलिस की ट्रेनिंग में इनका इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है. वो बात अलग है कि चीन में कुत्तों की भी नौकरी आसान नहीं है. सोशल मीडिया पर लोगों ने इस बात को लेकर खूब मज़ाक किया है. एक यूज़र ने कहा कि – कुत्तों की सरकारी नौकरी पाने के लिए भी भयानक कॉम्पटीशन है. कुछ ने ये भी कहा कि चोर पकड़ने के लिए कुत्ते कायर हो सकते हैं, लेकिन बच्चे इनसे खेल तो सकते ही हैं. वहीं कुछ लोगों ने इस बात को लेकर भी मज़ाक किया कि इन्हें खरीदने वाले जब इनको घर ले जाएंगे तो ये नहीं बताएंगे कि ये परीक्षा में फेल हो गए हैं.

About admin

Check Also

नवजोत सिद्धू पंजाब कांग्रेस के प्रधान होंगे, 4 कार्यकारी प्रधान भी होंगे नियुक्त … 

दिल्ली, 17 जुलाई  (रफ्तार न्यूज संवाददाता)  : सूत्रों के हवाले से ख़बर आई है कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share