Breaking News






Home / Breaking News / पंजाब की तरह राजस्थान में भी कलह को थामने के लिए डिनर डिप्लोमेसी कर सकती है कांग्रेस

पंजाब की तरह राजस्थान में भी कलह को थामने के लिए डिनर डिप्लोमेसी कर सकती है कांग्रेस

जयपुर (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः राजस्थान में अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमों में हुई बयानबाजी और जुबानी तकरार के बीच कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन आज जयपुर आ रहे हैं. माकन दो दिन यहीं रहेंगे. यूं तो माकन बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस के बुधवार से शुरू होने वाले 11 दिवसीय आउटरीच प्रोग्राम की तैयारियों का जायजा के लिए आ रहे हैं, लेकिन पार्टी के भीतर और बाहर चल रही गतिविधियों के मद्देनजर माकन का ये दौर सियासी महत्व रखता है. मंगलवार को माकन यहां पीसीसी में पार्टी के प्रदेशाधिकारियों की मीटिंग लेंगे. इस बैठक में जिलाध्यक्षों की नियुक्तियों को लेकर चर्चा हो सकती है. माकन जिलाध्यक्षों की नियुक्ति के मामले में इससे पहले सीधे जिलाधिकारियों से ही नाम मांग चुके हैं. राजनीति के पंडितों ने इसका मतलब ये लगाया है कि पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश संगठन को दरकिनार किया है.

माकन के दौरे में सबसे महत्वपूर्ण उनकी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात रहने वाली है, जो मंगलवार की रात होने की संभावना है. माना जा रहा है कि माकन इस मुलाकात के दौरान सीएम से जिन खास मुद्दों पर विस्तार से चर्चा करेंगे उनमें प्रदेश में राजनीतिक नियुक्तियां और मन्त्रिमण्डल विस्तार प्रमुख हैं. इसके साथ ही प्रदेश कांग्रेस संगठन में सम्भावित नियुक्तियों पर भी दोनों में विस्तार से बातचीत होना सम्भव है.

माकन के इस दौरे में पार्टी नेताओं- कार्यकर्ताओं में आपसी खींचतान को दूर करने के लिए पंजाब की तरह डिनर डिप्लोमेसी का सहारा लिया जा सकता है. सम्भावना है कि मंगलवार रात डिनर पर माकन अलग-अलग गुट के नेताओं और पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात कर सकते हैं. पिछले साल गहलोत और पायलट गुट में चले तनातनी वाले घटनाक्रम के बाद पिछले दो महीने में दोनों गुटों के नेताओं और विधायकों की गाहे-बगाहे की जा रही बयानबाजी से प्रदेश में सियासी तापमान एक बार फिर बढ़ा हुआ है. इस दौरान कोंग्रेस के नेता दिल्ली की दौड़ लगाते भी दिखाई दिए हैं. हालांकि आलाकमान से किसी की भी मुलाकात सम्भव नहीं हो सकी. ऐसे में इस दौरे पर प्रदेश प्रभारी अजय माकन प्रदेश के कांग्रेसी नेताओं के लिए क्या सन्देश लेकर आये हैं, जो इस सियासी गर्मी पर ठंडे छींटे डाल सके, ये देखना भी दिलचस्प होगा.

About admin

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share