Wednesday , June 23 2021
Breaking News








Home / Breaking News / मुख्यमंत्री ने पटियाला शहर के आस-पास की सभी कॉलोनियों को नहरी पानी पर आधारित जल आपूर्ति प्रोजैक्ट अधीन लाने के लिए योजना बनाने के लिए कहा

मुख्यमंत्री ने पटियाला शहर के आस-पास की सभी कॉलोनियों को नहरी पानी पर आधारित जल आपूर्ति प्रोजैक्ट अधीन लाने के लिए योजना बनाने के लिए कहा

चंडीगढ़, 26 मई (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : विरासती शहर पटियाला के व्यापक विकास को यकीनी बनाने के यत्नों के तौर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज डिप्टी कमिश्नर को 468 करोड़ की लागत वाले नहरी पानी पर आधारित जल आपूर्ति प्रोजैक्ट के काम में और तेज़ी लाने के लिए कहा, जिससे शहर निवासियों के लिए पीने वाला साफ़ पानी मुहैया करवाना यकीनी बनाया जा सके। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने शहर के आस-पास की कॉलोनियों को भी इस स्कीम के दायरे अधीन लाने के लिए योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं।
उन्होंने सम्बन्धित विभागों को नहरी पानी पर आधारित जल आपूर्ति, नया बस अड्डा, स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी, छोटी और बड़ी नदी के कायाकल्प के अलावा विरासती रास्ते को नया रूप देने समेत चल रहे प्रमुख प्रोजेक्टों को तेज़ी से मुकम्मल करने के लिए आपसी तालमेल के साथ काम करने के लिए कहा।
पटियाला शहर में चल रहे विकास कार्यों की प्रगति का जायज़ा लेते हुए मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नर को इन प्रोजेक्टों की प्रगति की निजी तौर पर निगरानी करने और इस संबंधी उनको भी अवगत करवाते रहने के लिए कहा, जिससे इनको समय पर मुकम्मल किया जाना यकीनी बनाया जा सके।
इससे पहले विकास कार्यों के बारे में विस्तृत पेशकारी देते हुए पटियाला के डिप्टी कमिश्नर ने मुख्यमंत्री को बताया कि वैश्विक स्तर की कंपनी एल. एंड टी. इन्फ्रास्ट्रचर कंपनी द्वारा मार्च, 2022 तक नहरी पानी पर आधारित जल आपूर्ति प्रोजैक्ट का 60 प्रतिशत काम पूरा कर लिया जाएगा।
60 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले नए बस स्टैंड और वर्कशॉप की प्रगति के सम्बन्ध में लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि 6.31 एकड़ क्षेत्रफल में नया बस अड्डा नवंबर, 2021 तक बना दिया जाएगा, जबकि 2.20 एकड़ क्षेत्रफल में बनने जा रही वर्कशॉप का काम मार्च, 2022 तक मुकम्मल हो जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि नए बस अड्डे में बसों की सीधी एंट्री के लिए लोक निर्माण विभाग को यू.ई.आई.पी. के दूसरे पड़ाव में पंजाब बुनियादी ढाँचा विकास बोर्ड (पी.आई.डी.बी.) से 7.70 करोड़ की लागत के साथ नया फ्लाईओवर बनाने की मंज़ूरी मिल चुकी है।
इस दौरान पी.आर.टी.सी. के चेयरमैन द्वारा नई बसें खरीदने सम्बन्धी उठाए गए मामले के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव को इस संबंधी लम्बित प्रस्ताव को तुरंत मंज़ूरी देने के लिए कहा। मुख्यमंत्री की हिदायत पर तत्काल अमल करते हुए परिवहन के प्रमुख सचिव ने पी.आर.टी.सी. को अपनी बेड़े में 255 नई बसें खरीदने के लिए सहमति दे दी।
मुख्यमंत्री ने वित्त विभाग को अबलोवाल में डेयरी शिफ्ट करने के प्रोजैक्ट जो मुकम्मल होने की कगार पर है, के पहले पड़ाव के लिए 2.18 करोड़ रुपए के अलावा इसी प्रोजैक्ट के दूसरे पड़ाव के लिए 10.37 करोड़ रुपए तुरंत जारी करने के आदेश दिए।
गाँव सिद्धूवाल में 100 एकड़ क्षेत्रफल में बनने जा रही महाराजा भुपिन्दर सिंह पंजाब स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी के निर्माण में तेज़ी लाने के लिए मुख्यमंत्री ने वित्त विभाग को टीचिंग फैकल्टी के ज़रूरी पदों के लिए अनुदान तुरंत मंज़ूर करने के लिए कहा, जिससे यूनिवर्सिटी को मुकम्मल रूप से कार्यशील किया जा सके। इसके साथ ही उन्होंने विभाग को यूनिवर्सिटी के निर्माण के लिए 60 करोड़ रुपए के फंड को भी मंज़ूरी देने के लिए कहा।
मीटिंग में यह भी बताया गया कि पहले पड़ाव के अंतर्गत पटियाला शहर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को दिखाने के लिए विरासती रास्ते के समानिया गेट से किला मुबारक ‘ए टैंक’ तक 2 किलोमीटर हिस्से को विकसित किया जा रहा है और यह काम 30 जून तक पूरा हो जाएगा और इसके बाद बाकी हिस्से का काम भी जल्द मुकम्मल हो जाएगा। इसी तरह संरक्षण योजना के हिस्से के तौर पर पटियाला की छोटी नदी और बड़ी नदी की कायाकल्प का काम भी शुरू किया गया है। छोटी नदी का लगभग 35 प्रतिशत काम मुकम्मल हो चुका है और इसका समूचा हिस्सा नवंबर, 2021 तक पूरा हो जाएगा। इसी तरह बड़ी नदी का काम जून, 2021 तक ज़मीनी स्तर पर शुरू हो जाएगा, क्योंकि इसके डिज़ाइन और अन्य ज़रूरतों को अंतिम रूप दिया गया है और यह काम जल्द ही मुकम्मल किए जाने की संभावना है।
विचार-विमर्श में हिस्सा लेते हुए स्थानीय सरकार संबंधी मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने पटियाला शहर के सर्वपक्षीय विकास के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह के दूरअन्देशी नेतृत्व की भरपूर सराहना की। उन्होंने बताया कि इनमें से बहुत से प्रोजेक्टों को पिछली सरकार ने पूरी तरह नज़रअंदाज़ कर दिया था और अब कैप्टन सरकार के योग्य नेतृत्व अधीन इन प्रोजेक्टों को सही अर्थों में लागू किया जा रहा है, जिससे स्थानीय निवासियों की इच्छाएं पुरी होंगी।
मुख्यमंत्री ने ग्रामीण विकास एवं पंचायतों के वित्त कमिश्नर को पटियाला जि़ले के गाँव बादशाहपुर में पशुओं के शवों के निस्तारण के लिए प्लांट स्थापित करने में लगीं देश की अग्रणी कंपनियों के साथ जल्द से जल्द तालमेल करने के लिए भी कहा।
मीटिंग में यह भी बताया गया कि सनौरी अड्डे में डम्प साइट पर बायोरेमेडिएशन प्लांट स्थापित किया गया है, जिससे यहाँ 25 सालों से इकठ्ठा हुए 1.75 मीट्रिक टन कूड़े से निजात मिलेगी। इस प्रोजैक्ट पर काम जुलाई, 2020 में शुरू किया गया था, जिसके मई, 2022 तक मुकम्मल होने की उम्मीद है। हालाँकि, नगर निगम को उम्मीद है कि यह काम इससे पहले ख़त्म हो जाएगा, क्योंकि 40 प्रतिशत काम पहले ही पूरा हो चुका है। यह भी बताया गया कि शहर के भीतरी नाले (ड्रेन) की सफ़ाई का 22 प्रतिशत काम मुकम्मल हो चुका है।
मोहिन्द्रा कोठी के नवीनीकरण और मैडल गैलरी और सिक्कों के संग्रहालय को शिफ्ट करने सम्बन्धी डिप्टी कमिश्नर ने मुख्यमंत्री को बताया कि 9.35 करोड़ रुपए की लागत वाला यह सारा प्रोजैक्ट मुकम्मल होने के नज़दीक है।
मुख्यमंत्री ने पी.एस.पी.सी.एल. को हिदायत की कि वह पटियाला शहर में डाली गईं सभी बिजली की तारों और ट्रांसफ़ॉर्मरों के नवीनीकरण के लिए काम तुरंत चालू करें, जिससे वाहनों की सुचारू यातायात और निवासियों की सुरक्षा को यकीनी बनाया जा सके। उन्होंने लोक निर्माण विभाग (बी एंड आर) को सरकारी मैडीकल कॉलेज और राजिन्द्रा अस्पताल के सीनियर और जूनियर डॉक्टरों के लिए मौजूदा आवासों, जोकि पहले ही ख़स्ता हालत में हैं, के नवीनीकरण के लिए तुरंत कार्य योजना बनाने के लिए कहा। उन्होंने लोक निर्माण विभाग (बी एंड आर) के प्रमुख सचिव को यहाँ काम कर रहे नर्सिंग स्टाफ, ग्रुप सी और डी के कर्मचारियों के लिए नए मकान/फ्लैट के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश भी दिए।
इस दौरान, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग (बी एंड आर) ने बताया कि आगामी नर्सिंग होस्टल, मैडीकल कॉलेज में नया डैंटल ब्लॉक और स्पोट्र्स यूनिवर्सिटी की चारदीवारी के निर्माण का कार्य जुलाई, 2021 तक मुकम्मल हो जाएगा।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने डिप्टी कमिश्नर को स्थानीय नगर निगम के साथ सलाह-मश्वरा करके बसेरा स्कीम (झुग्गी झोंपड़ी निवासियों को मालिकाना हक) के अंतर्गत बाकी बचे लाभार्थियों को देने के लिए उपयुक्त ज़मीन की पहचान करने के लिए रूप-रेखा तैयार करने के लिए भी कहा।
मीटिंग में अन्यों के अलावा पटियाला से संसद मैंबर परनीत कौर, स्थानीय सरकार संबंधी मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा, पी.आर.टी.सी. के चेयरमैन के.के. शर्मा, पटियाला नगर निगम के मेयर संजीव शर्मा, मुख्य सचिव विनी महाजन, अतिरिक्त मुख्य सचिव पर्यटन संजय कुमार, वित्त कमिश्नर ग्रामीण विकास एवं पंचायतों सीमा जैन, प्रमुख सचिव परिवहन के. सिवा प्रसाद, प्रमुख सचिव वित्त के.ए.पी. सिन्हा, प्रमुख सचिव आवास निर्माण और शहरी विकास सरवजीत सिंह, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान डी.के. तिवाड़ी, प्रमुख सचिव स्थानीय सरकार अजोए कुमार सिन्हा, प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग (बी एंड आर) विकास प्रताप, सी.ई.ओ. पी.एम.आई.डी.सी. अजोए शर्मा, डिप्टी कमिश्नर पटियाला कुमार अमित और कमिश्नर नगर निगम पटियाला पूनमदीप कौर शामिल थे।

About admin

Check Also

Ambala News: अंबाला में महिला लेफ्टिनेंट ने की आत्महत्या, फंदे पर झूलती मिली लाश

अंबाला (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः हरियाणाा के अंबाला जिले में एक महिला लेफ्टिनेंट द्वारा आत्महत्या (Woman lieutenant …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share