Breaking News






Home / Breaking News / Corona की रफ्तार थामने के लिए 15% Positivity Rate वाले 150 जिलों में सख्त Lockdown लगाने की तैयारी

Corona की रफ्तार थामने के लिए 15% Positivity Rate वाले 150 जिलों में सख्त Lockdown लगाने की तैयारी

नई दिल्ली (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः कोरोना (Coronavirus) की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए देश के कई जिलों में लॉकडाउन (Lockdown) लगाया जा सकता है. केंद्र सरकार ने इस संदर्भ में एक प्रस्ताव तैयार किया है, जिसमें राज्यों से कहा गया है कि अत्यधिक संवेदनशील जिलों में सख्त लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. हालांकि, केंद्र ने अत्यावश्यक सेवाओं (Essential Services) को लॉकडाउन से छूट देने की बात भी कही है. बता दें कि देश में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा होता जा रहा है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने प्रस्ताव में कहा है कि यदि जल्द ही संबंधित जिलों में लॉकडाउन (Lockdown) नहीं लगाया गया, तो संक्रमण के मामले और तेजी से बढ़ सकते हैं. प्रस्ताव में ऐसे 150 जिलों में लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया गया है, जहां 15 फीसदी से ज्यादा पॉजिटिविटी रेट (Positivity Rate) है. केंद्र ने कहा है कि इन जिलों में जरूरी सेवाओं में छूट देकर लॉकडाउन लगाना होगा, अन्यथा स्वास्थ्य प्रणाली पर बहुत ज्यादा बोझ बढ़ जाएगा.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union health Ministry) ने मंगलवार को एक उच्च-स्तरीय बैठक में इसकी सिफारिश की थी, हालांकि राज्य सरकारों से सलाह के बाद केंद्र आखिरी फैसला लेगा. इस प्रस्ताव को और संशोधित किया जा सकता है, लेकिन मंत्रालय का मानना है कि अभी केस लोड और पॉजिटिविटी रेट को नियंत्रित करना जरूरी है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमारे विश्लेषण से पता चलता है कि बहुत अधिक पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों में अगले कुछ हफ्तों के लिए सख्त लॉकडाउन लगाना होगा, ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके.

इससे पहले केंद्र सरकार ने रविवार को राज्यों से कहा था कि ऐसे जिलों में कहां पॉजिटिविटी रेट पिछले एक हफ्ते से 10% से अधिक है वहां सख्त लॉकडाउन लगाया जाना चाहिए. साथ ही सरकार ने राज्यों को चेताया था कि मौजूदा संसाधनों से कोरोना की दूसरी लहर का मुकाबला नहीं किया जा सकता, इसमें निरंतर सुधार करना होगा. केंद्र का कहना है कि राज्यों ने COVID के प्रबंधन पर तत्काल काम करने की जरूरत है अन्यथा संक्रमण को नियंत्रित करना बेहद मुश्किल हो जाएगा.

About admin

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share