Breaking News








Home / दुनिया / शर्मनाक: चीन ने पहले की मदद की पेशकश, फिर रोक दी भारत की मेडिकल सप्लाई

शर्मनाक: चीन ने पहले की मदद की पेशकश, फिर रोक दी भारत की मेडिकल सप्लाई

(रफतार न्यूज ब्यूरो) -कोरोना के खिलाफ लड़ाई में चीन ने भारत का साथ देने का वादा किया था। लेकिन मदद करने से पहले ही उसने अपनी छीछालेदर करवा ली। चीन ने भारत को मेडिकल उपकरणों की सप्लाई देने से फिलहाल इनकार कर दिया है। चीन की सरकारी सिचुआन एयरलाइंस ने भारत के लिए अपनी सभी कार्गो (मालवाहक) उड़ानों को अगले 15 दिन तक स्थगित कर दिया है। सिचुआन चुआनहांग लॉजिस्टिक कॉरपोरेशन लिमिटेड ने एक पत्र जारी कर यह जानकारी दी है।

पत्र में लिखा गया है कि विमानन कंपनी शियान-दिल्ली सहित छह मार्गों पर अपनी कार्गो सेवा स्थगित कर रही है। यह फैसला सीमा के दोनों ओर के निजी कारोबारियों द्वारा चीन से ऑक्सीजन कंसनट्रेटर खरीदने के गंभीर प्रयासों के दौरान लिया गया। कंपनी के पत्र में कहा गया है कि भारत में महामारी की स्थिति में बढ़ोतरी की वजह से आयात की संख्या में कमी आई है। ऐसे में अगले 15 दिन के लिए उड़ानों को स्थगित किया जा रहा है। चीन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि सप्लाई रोकने के फैसले से यहां की कंपनी को भारी नुकसान हुआ है। इसके लिए हम माफी मांगते हैं बता दें कि भारतीय मार्ग हमेशा से ही सिचुआन एयरलाइंस का मुख्य रणनीतिक मार्ग रहा है।

पत्र के मुताबिक कार्गो उड़ानों के स्थगित से एजेंट और सामान भेजने वाले लोग भी परेशान हो रहे हैं। साथ ही यह भी शिकायत है कि चीनी उत्पादकों ने ऑक्सीजन संबधी उपकरणों की कीमत में 35 से 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी है।  वहीं, माल ढुलाई के शुल्क में भी करीब 20 प्रतिशत तक का इजाफा कर दिया है।

शंघाई की साइनो ग्लोबल लॉजिस्टिक कंपनी के मालिक सिद्धार्थ सिन्हा ने बताया कि सिचुआन एयरलाइंस के फैसले से दोनों देशों के कारोबारियों पर भी असर पड़ा है। उन्होंने बताया कि अब इन उपकरणों को भेजने में चुनौतियां होंगी। सिंगापुर या अन्य देशों के रास्ते विमानन कंपनियों की ओर से भेजा जा सकता है। जिससे अति आवश्यक इन उपकरणों की आपूर्ति में देरी होगी

 

About admin

Check Also

पाकिस्‍तान को सऊदी अरब ने दिया झटका, खास परियोजना को किया शिफ्ट

इस्‍लामाबाद (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः  सऊदी अरब (Saudi Arabia) ने पाकिस्‍तान (Pakistan) को बड़ा झटका दिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share