Breaking News






Home / देश / छिन्दवाड़ा जिले के साथ भेदभाव न करने की मांग

छिन्दवाड़ा जिले के साथ भेदभाव न करने की मांग

छिन्दवाडा( भगवानदीन साहू)- धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों ने प्रधानमंत्री , केन्द्रीय रेल मंत्री नई दिल्ली के नाम जिला कलेक्टर छिन्दवाड़ा को ज्ञापन सौंपकर रेल सेवा बहाल करने की मांग की तथा ज्ञापन में बताया कि जिलेवासियों का मुख्य आवागमन का साधन रेल है । कोविड -19 के कारण रेल सेवा बहाल नहीं होने के कारण जिले के व्यापारी एवं आम लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है । इन्दौर , भोपाल , नागपुर जाने हेतु निजी वाहन मालिकों ने लूटमार मचा रखी है। दिनाँक 21 मार्च 2021 को मुझे अति आवश्यक कार्य से सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली जाना था । दिनाँक 14 मार्च को मैंने दो लोगों का रेल टिकट बुक करवाया जिसका PNR No. 4410810014 था तथा वापसी 22 मार्च की टिकट का PNR NO . 2865099266 था । 20 मार्च को मुझे रेलवे का संदेश आया कि आपकी टिकट कंफर्म नहीं हैं , मजबूरीवश मुझे यात्रा रद्द करनी पड़ी । रेलवे नियमानुसार ऑनलाईन टिकट बुक करवाने पर टिकट कन्फर्म नहीं होने की स्थिति में यात्री को उसका पैसा उसके अकाउंट में वापस आ जाता है । चूंकि मेरे द्वारा रेलवे काउंटर से टिकट बुक करवायी गयी थी , दिनांक 24/03/2021 को मैं टिकट का पैसा वापस लेने गया तो रेलवे अधिकारी ने पैसा वापस करने से मना कर दिया , मै ठगा से मुह लेकर वापस आ गया ! कोविड -19 का फायदा उठाकर रेलवे ने एक और किराया में भारी बढोत्तरी की वहीं सिनियर सिटीजनों का कोटा या छुट समाप्त कर दिया । उपर से यहाँ से रेल पकड़ने हेतु नागपुर या बैतूल जाना पड़ता है , तो अतिरिक्त लगभग 200 रूपये प्रत्येक यात्री खर्च होता है । मेरे द्वारा रेलवे के उच्च अधिकारियों से दुरभाष पर पतालकोट एक्सप्रेस एवं पेंचवेहली पेसेंजर के प्रारंभ होने के संबंध में सम्पर्क किया तो अधिकारियों ने बताया रेल विभाग घाटे में चलने वाली सभी ट्रेनों पर विचार कर रहा है। इस वजह से छिन्दवाड़ा से अन्य ट्रेने प्रारंभ नहीं हो सकी हैं । जिले के सांसद नकुलनाथ एवं कई अन्य सामाजिक संगठनों ने रेल सेवा बहाल हेतु रेल मंत्री को पत्र लिखा पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई । माननीय प्रधानमंत्री एवं रेल मंत्री से प्रार्थना है कि राजनीति एवं लाभ के गुणा भाग से उपर उठकर आम लोगों के हित को ध्यान में रखते हुये रेल सेवा बहाल की जायें और जिलेवासियों के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया ना अपनाएं जाने की मांग की । ज्ञापन देते समय आधुनिक चितक हर्षुल रघुवंशी , शिक्षाविद विशाल चउत्रे , कुनबी समाज के युवा नेता अंकित ठाकरे , राष्ट्रीय बजरंग दल से नितेश साहू , पवार समाज के हेमराज पटले , युवा सेवा संघ के नितिन डोईफोडे , ओम प्रकाश डेहरिया , गायत्री परिवार के ओमप्रकाश साहू , कलार समाज के सुजीत सूर्यवंशी , आई.टी.सेल के प्रभारी भूपेश पहाड़े , अखिल भारतीय नारी रक्षा मंच से करूणेश पाल , संकुतला कराडे , छाया सूर्यवंशी , वनीता सनोड़िया , योगिता पराड़कर मुख्य रूप से उपस्थित थे

About Sushil Parihar

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share