Breaking News






Home / देश / बालात्कार , दहेज प्रताड़ना , SC / ST एक्ट के प्रकरणों में नार्को टेस्ट मांग पर सरकारी प्रकिया शुरू

बालात्कार , दहेज प्रताड़ना , SC / ST एक्ट के प्रकरणों में नार्को टेस्ट मांग पर सरकारी प्रकिया शुरू

छिंदवाड़ा( भगवानदीन साहू )- धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों ने दिनाँक 12 अक्टूबर 2020 को महामहिम राष्ट्रपति , प्रधानमंत्री एवं केन्द्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय के नाम जिला कलेक्टर छिन्दवाड़ा को ज्ञापन सौंपकर बलात्कार , दहेज प्रताड़ना , SC / ST एक्ट के प्रकरणों में पीड़ित का नार्कोटेस्ट अनिवार्य किये जाने की मांग की थी । ज्ञापन में बताया था कि , इन एक्टो का देश में जमकर दुरूप्रयोग हो रहा है। 90 प्रतिशत प्रकरण न्यायालय में फर्जी साबित हो रहे हैं । राजनैतिक द्वेष निकालने तथा पैसे ऐंठने के लिए इस एक्ट का बेजा इस्तेमाल किया जा रहा है । इन प्रकरणों में पीढ़ित का नार्कोटेस्ट हो तो 99 प्रतिशत प्रकरण स्वतः ही निराकृत हो जायेंगे । जिससे पुलिस तथा न्याय व्यवस्था का कीमती समय बचेगा और वास्तविक दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होने की प्रबल संभावना रहेंगी । साथ ही संभ्रांत परिवार की बदनामी एवं आत्महत्या के डर से बच जायेंगे । इस ज्ञापन पत्र पर महामहिम राष्ट्रपति द्वारा पत्र कमांक P1 / 2 / 2801210057 के माध्यम से केन्द्रीय गृहमंत्रालय भारत सरकार को ध्यानाकर्षण हेतु अग्रेषित किया है , तथा विधि एवं न्याय मंत्रालय ने कार्यवाही करते हुये सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय एवं केन्द्रीय महिला और बाल विकास मंत्रालय को अग्रेषित किया हैं । श्री साहू ने बताया कि सभी स्थिति सही रही तो शीघ्र ही बलात्कार , दहेज प्रताड़ना , एस.सी. / एस.टी . एक्ट के प्रकरणों में पीड़िता का नार्कोटेस्ट की अनिवार्यता से इंकार नहीं किया जा सकता है । ज्ञापन देते समय साध्वी रेखा बहन , साध्वी प्रतिमा बहन , आधुनिक चिंतक हर्षुल रघुवंशी , शिक्षाविद विशाल चउत्रे , कुंबी समाज के युवा नेता अंकित ठाकरे , राष्ट्रीय बजरंग दल के नितेश साहू , पवार समाज के प्रमुख हेमराज पटले , युवा सेवा संघ के सोमनाथ पवार , नितिन डोईफोडे , ओमप्रकाश डेहरिया , आई.टी.सेल के प्रभारी भूपेश पहाड़े , कलार समाज के प्रतिष्ठित सुजीत सूर्यवंशी , अखिल भारतीय नारी रक्षा मंच से दर्शना खट्टर , छाया सूर्यवंशी , करूणेश पाल , संकुतला कराड़े , वनिता सनोडिया , योगिता पराड़कर , दीपा डोडानी आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।

More research is needed to determine whether a low glycemic diet can treat or help prevent acne. cialis in malaysia The relationship between dairy and acne is highly controversial.

About Sushil Parihar

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share