Breaking News








Home / Uncategorized / ई-ईपीआईसी 25 जनवरी को भारत के चुनाव आयोग द्वारा आयोजित किया जाएगा शुरुवात

ई-ईपीआईसी 25 जनवरी को भारत के चुनाव आयोग द्वारा आयोजित किया जाएगा शुरुवात

चंडीगढ़, (रफ़्तार न्यूज़) भारतीय चुनाव आयोग एक ऐतिहासिक पहल करते हुए 25 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर ई-ईपीआईसी (इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टोरल फोटो आइडेंटिटी कार्ड) कार्यक्रम की औपचारिक रूप से शुरूआत करेगा। मतदाता अब अपने रजिस्टर्ड मोबाइल पर डिजिटल वोटर कार्ड देख और प्रिंट कर सकते हैं। मतदाताओं के लिए चुनाव से जुड़ी सेवाओं को और अधिक सरल बनाने के उद्देश्य से, भारतीय चुनाव आयोग ने 19 जनवरी, 2020 को आयोजित एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी राज्यों के मुख्य चुनाव अधिकारियों को ई-ईपीआईसी के तौर-तरीकों संबंधी जानकारी दी।

ई-ईपीआईसी ईपीआईसी का एक नॉन-एडिटेबल सुरक्षित पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फॉर्मेट (पीडीएफ) रूप है। इसे मोबाइल पर या सेल्फ-प्रिन्टेबल रूप में कंप्यूटर पर डाउनलोड किया जा सकता है। इस प्रकार मतदाता अपने मोबाइल पर कार्ड को स्टोर कर सकता है, इसे डिजी लॉकर पर अपलोड कर सकता है या इसे प्रिंट कर सकता है और इसे सेल्फ-लैमिनेट कर सकता है। यह सुविधा ताजा रजिस्ट्रेशन के लिए जारी किए जा रहे फिज़ीकल ईपीआईसी के अलावा है।

ई-ईपीआईसी संबंधी जानकारी देते हुए भारतीय चुनाव आयोग के महासचिव उमेश सिन्हा ने कहा, ‘‘यह एक डिजिटल रूप में चुनावी फोटो पहचान पत्र प्राप्त करने का एक वैकल्पिक और तेज़ तरीका होगा। यह दस्तावेज़ मतदाता पहचान पत्र के लिए प्रमाण के रूप में समान रूप से मान्य है और मतदाता द्वारा इसे अपनी सुविधानुसार प्रिंट किया जा सकता है और मतदान के दौरान प्रमाण के रूप में दिखाया जा सकता है।’’

ई-ईपीआईसी को मोबाइल या कंप्यूटर पर डाउनलोड किया जा सकता है और डिजिटल रूप से स्टोर किया जा सकता है। इसमें सुरक्षित क्यूआर कोड सहित चित्र और सीरियल नंबर, पार्ट नंबर आदि मौजूद होंगे। प्रारंभिक चरण में मतदान वाले राज्यों के लिए इसकी विशेष सुविधा होगी।

इस संबंधी विवरण पेश करते हुए भारतीय चुनाव आयोग के महानिदेशक सुदीप जैन ने कहा, ‘‘इसे दो चरणों में लॉन्च किया जाएगा। पहले चरण में, 25 से 31 जनवरी, 2021 तक, विशेष संक्षिप्त संशोधन-2010 के दौरान रजिस्टर्ड सभी नए मतदाता पात्र होंगे, बशर्ते कि वे एक यूनीक नंबर के साथ रजिस्टर्ड हों, जिसका अर्थ है कि मोबाइल नंबर पहले से ही भारतीय चुनाव आयोग की मतदाता सूची में रजिस्टर्ड नहीं होना चाहिए। दूसरे चरण में, 1 फरवरी 2021 से सभी सामान्य मतदाता पात्र होंगे।’’

नागरिक निम्नलिखित ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म में से किसी का भी उपयोग करके आसानी से ई-ईपीआईसी डाउनलोड कर सकते हैं:
क वोटर हेल्पलाइन मोबाइल ऐप (Android / iOS)
• https://voterportal.eci.gov.in/

• https://nvsp.in/

यूनीक मोबाइल नंबरों वाले सभी नए मतदाताओं को फिज़ीकल ईपीआईसी के अलावा डिजिटल वोटर कार्ड दिए जाएंगे। यूनीक मोबाइल नंबरों वाले मौजूदा मतदाता प्रमाणीकरण के बाद इसे डाउनलोड कर सकते हैं। बिना यूनीक मोबाइल नंबर वाले मतदाता अपना चेहरे की पहचान संबंधी केवाईसी करवाकर डाउनलोड के लिए प्रमाणीकरण प्राप्त कर सकते हैं।

विशेष संक्षिप्त संशोधन-2010 के दौरान रजिस्टर्ड सभी नए मतदाताओं को ई-ईपीआईसी डाउनलोड करने के लिए भारतीय चुनाव आयोग की ओर से एक एसएमएस प्राप्त होगा। राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर इसके शुभारंभ वाले दिन, यूनीक मोबाइल नंबर वाले 4.5 मिलियन मतदाताओं को ई-ईपीआईसी डाउनलोड करने के लिए एसएमएस भेजा जाएगा।

About admin

Check Also

Oxygen Concentrators will be issued to patients after discharge if advised by the doctor: Balbir Singh Sidhu

Chandigarh, May 24  (Raftaar News Bureau) : To meet the oxygen requirements of patients recovered from …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share