Wednesday , June 23 2021
Breaking News








Home / पंजाब / विजय इंदर सिंगला द्वारा राघव चड्ढा को बदले में जवाब; ‘‘फ़ायदा नुक़सान देखना आप के सी.ए. का काम, पंजाब के सी.एम. का नहीं’’

विजय इंदर सिंगला द्वारा राघव चड्ढा को बदले में जवाब; ‘‘फ़ायदा नुक़सान देखना आप के सी.ए. का काम, पंजाब के सी.एम. का नहीं’’

*  आप की झूठ की फैक्ट्री में से राघव चड्ढा द्वारा छोड़े गए नये झूठ पर पंजाब का छोटा बच्चा भी यकीन नहीं करेगा-सिंगला
*  बार-बार झूठ बोलकर झूठ को सत्य साबित करने की ताक में रहने वाले आप नेताओं का दोगला चेहरा बेनकाब हुआ
*  कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने राज्य के लिए कभी भी अपनी कुर्सी पर होने वाले केसों की परवाह नहीं की
चंडीगढ़  (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) :  पंजाब के कैबिनेट मंत्री विजय इंदर सिंगला ने आप नेता राघव चड्ढा द्वारा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के खि़लाफ़ लगाए गए बेबुनियाद आरोपों को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा कि समूची आम आदमी पार्टी को झूठ बोलने और लोगों को गुमराह करने की आदत पड़ गई है। उन्होंने कहा, ‘‘फ़ायदा नुक़सान देखना आप के सी.ए. (चार्टड अकाउँटैंट) का काम है, पंजाब के सी.एम. (मुख्यमंत्री) का नहीं।’’
आज यहाँ जारी प्रैस बयान में श्री सिंगला ने कहा कि आम आदमी पार्टी के हर नेता की यही मानसिकता है कि बार-बार झूठ बोलने से लोगों को बात सत्य लगने लग जाती है, इसलिए इस कला में महारत हासिल आप सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल और भगवंत मान के नक्शे-कदमों पर राघव चड्ढा चल रहा है। उन्होंने कहा कि यह पार्टी झूठ बोलने की फैक्ट्री है, जहाँ से नित नया झूठ तैयार करके लोगों को भडक़ाने की कोशिश की जाती है, जिस पर पंजाब का एक छोटा बच्चा भी अब यकीन नहीं करता।
कांग्रेसी मंत्री ने राघव चड्ढा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जितनी उसकी उम्र है, उससे कहीं अधिक मुख्यमंत्री का राजनैतिक जीवन है। भारतीय सेना में निभाई गईं सेवाओं को जोडक़र देखा जाये तो मुख्यमंत्री का तजुर्बा आप नेता के जीवन से दोगुना है। उन्होंने कहा कि राघव चड्ढा को बयान देने से पहले कम-से-कम बीता कल देख लेना चाहिए था, क्योंकि कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने राज्य के लोगों के ख़ातिर कहीं अपना निजी फ़ायदा  नुक़सान नहीं देखा, यहाँ तक कि अपनी पार्टी की परवाह नहीं की। चार्टड अकाउँटैंट राघव चड्ढा ही फ़ायदा नुक़सान देखता होगा।
श्री सिंगला ने कहा कि अगर राघव चड्ढा को पंजाब का इंचार्ज लगाया ही है तो वह उनकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं कि पंजाब की किसानी और राज्य के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपने पिछले मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान अपने आलाकमान और पड़ोसी राज्यों में कांग्रेस पार्टी की सरकार की परवाह न करते हुए पानियों का समझौता रद्द कर दिया था। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने तो बादलों द्वारा दर्ज मामलों की कहीं परवाह नहीं की। यहाँ तक कि कभी भी पद का लालच नहीं किया और राज्य के हितों के लिए इस्तीफ़ा देने से भी पीछे नहीं हटे।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ख़ुद ही यह बात स्पष्ट कर चुके हैं कि ई.डी. द्वारा चाहे उनके पुत्र, पोते-पोती को केस में उलझाने की कोशिश की गई है, परन्तु वह राज्य के लिए कभी भी इनकी परवाह नहीं करेंगे। श्री सिंगला ने आप नेता पर व्यंग्य कसते हुए कहा, ‘‘कैप्टन अमरिन्दर सिंह उनके बौस केजरीवाल की तरह डरपोक स्वभाव के नहीं। केजरीवाल ने तो गिड़गिड़ाते हुए बिक्रम मजीठिया से माफी मांगते हुए केस ही वापस ले लिया था।’’
राघव चड्ढा द्वारा कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर दिल्ली में किसानों को न मिलने के लगाए गए दोषों का करारा जवाब देते हुए श्री सिंगला ने कहा पंजाब के मुख्यमंत्री आप नेता की तरह फुकरे और राजनैतिक शोहरत कमाने के लालची नहीं, जो किसानों द्वारा आंदोलन में किसी भी राजनैतिक नेता को शामिल न होने की अपील को न समझें। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह नहीं चाहते कि किसानों के आंदोलन पर किसी भी पार्टी के साथ जुड़े होने का ठप्पा लगे और किसान आंदोलन कमज़ोर हो।
श्री सिंगला ने कहा कि जहाँ तक किसानों के संघर्ष की हिमायत की बात है तो पिछले पाँच महीनों से पंजाब में शांतमयी संघर्ष कर रहे राज्य के किसानों को परेशान नहीं किया गया, बल्कि किसान नेताओं को निरंतर बुलाकर मीटिंगें की गईं। यहाँ तक कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए काले कृषि कानूनों को बेअसर करने के लिए राज्य सरकार द्वारा विधान सभा में बिल पास किये गए। दूसरी ओर केजरीवाल की दिल्ली सरकार ने एक कृषि कानून को लागू करने के लिए नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया। उन्होंने कहा कि आप का दोगला चेहरा बेनकाब होने के कारण आप नेताओं द्वारा किये जा रहे झूठ प्रचार पर कोई भी राज्य निवासी अब यकीन नहीं करेगा, क्योंकि राज्य के लोग आम आदमी पार्टी के दोगले चेहरे को समझ चुके हैं और उनके गुमकाहकुन और झूठे प्रचार में नहीं आएंगे।
श्री सिंगला ने आप को अन्धाधुन्ध अफ़वाह पार्टी बताते हुए कहा कि केजरीवाल ने भगवंत मान को राज्य प्रधान बनाया और पंजाब में लोगों को गुमराह करने के लिए उसका साथ देने के लिए पहले संजय सिंह और फिर जर्नैल सिंह की ड्यूटी लगाई और अब अपनी झूठ की फैक्ट्री से नये झूठों के साथ राघव चड्ढा को पंजाब भेजा गया, जिसको पंजाबी नकार देंगे। उन्होंने कहा कि आरएसएस के इशारे पर चलने वाले केजरीवाल ने पहले सीएए के मुद्दे पर मुँह नहीं खोला और अब पंजाब की तरह काले कृषि कानूनों के खि़लाफ़ दिल्ली विधान सभा में कोई बिल नहीं पास किया, जिससे सिद्ध होता है कि आम आदमी पार्टी भाजपा की ‘बी’ पार्टी की तरह काम कर रही है।

About admin

Check Also

Himachal Cabinet Meeting: बसें, मंदिर, 12वीं कक्षा समेत इन मुद्दों पर फैसला संभव

शिमला (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः  हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल (Himachal Cabinet Meeting) की अहम बैठक मंगलवार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share