Breaking News






Home / Breaking News / भाजपा ने कैप्टन को उनकी नाकामियों का आईना दिखाते हुए लिखा पत्र।

भाजपा ने कैप्टन को उनकी नाकामियों का आईना दिखाते हुए लिखा पत्र।

चंडीगढ़[रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो] : प्रदेश भाजपा महासचिव डॉ. सुभाष शर्मा ने प्रदेश में बिगड़ चुकी कानून-व्यवस्था व चिंताजनक हालातों को देख कर कैप्टन अमरिंदर सिंह को पत्र लिख कर आड़े हाथों लेते हुए कहाकि राज्य पहले से ही एक मुख्यमंत्री के रूप में आपकी विफलता की कीमत चुका रहा है, लेकिन अब आपराधिक तत्वों को आपके संरक्षण और आपके राजनीतिक विरोधियों के विरुद्ध हिंसात्मक कार्यवाहियां पंजाब को काले दिनों में वापस खींच रहे है। पंजाब हिंसा का एक और दौर नहीं झेल सकता। कैप्टन राज्य पर शासन करने में असमर्थ हैं और उन्हें अपने राज धर्म के पालन करना चाहिए। आप केवल सत्ता में पिछले चार वर्षों में अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। लेकिन प्रदेश आपके गलत कार्यों व निर्णयों की कीमत नहीं चुका सकता।
         अमरिंदर सिंह जी, जब राज्य में कृषि पोर्टफोलियो को बदलने का निर्णय लिया जाना चाहिए था तो आप विफल रहे और कृषक समुदाय की भावनाओं को भड़काने के लिए सस्ती राजनीतिक व रणनीति का इस्तेमाल किया। आप फ़ार्म बिलों और कानूनों की सामग्री और मंशा से पूरी तरह अवगत होने के बावजूद न केवल झूठ बोले, बल्कि किसानों को गुमराह भी किया। केंद्र सरकार किसानों को कानून समझाने के लिए बाध्य है, और यह करेगी। लेकिन कानूनों को स्वीकार करने और किसानों के लिए अवसरों को समझाने के बजाय; आप खुशी से कार्नाड फैलाते हैं। राज्य में, एक असंतुष्ट राजकुमार की तरह, आप अपनी ‘काका सेनाका उपयोग कर रहे हैं, जो अपराधियों के साथ मिलकर भाजपा नेताओं और हमारे कैडर पर हमला कर रहे हैं। यह केवल यह दिखा रहा है कि आप अपने शासन की विफलताओं, अप्रभावीता, ज़बरदस्त भ्रष्टाचार, ड्रग्स से निपटने वाले माफियाओं के संरक्षण, अवैध लिकर, रेत और भूमि हथियाने के लिए चिंतित हैं। आप राजनीतिक नेताओं के खिलाफ हिंसा, निवेशकों की संपत्ति को सुरक्षा प्रदान करने में विफल साबित हुए हैं। यह सब कुछ पंजाब को उपद्रवियों, अराजकता फ़ैलाने वाले लोगों और समुदायों को आतंकित करने वालों के हाथों में धकेल रही हैं। 
         मुख्यमंत्री जी, आपने राज्य के सरकारी खजाने से लेकर निवेशकों की स्थिति तक बड़े पैमाने पर पैसा खर्च किया है। अब, आपके और आपके शासन द्वारा समर्थित अपराधी उनके खिलाफ हिंसात्मक कारवाई कर रहे हैं। पंजाब, नक्सलियों और सांप्रदायिक ताकतों के हाथों में दशकों तक जला है। यह बहुत अच्छी तरह से प्रलेखित है कि कांग्रेस के नेता, जब कभी भी, मतदाता राजनीति पर विश्वसनीयता और पकड़ खो देते हैं, तो वे जनता की भावनाओं के साथ खेलते हैं और हिंसा करते हैं। पिछले चार वर्षों में, आपने पंजाब के इतिहास में सबसे खराब सरकारों में से एक को चलाया और खुद को असफल मुख्यमंत्री, राजनेता और नेता के रूप में साबित किया। कोरोना महामारी के दौरान, राज्य में देश के किसी भी अन्य राज्यों की तुलना में सबसे ज्यादा मृत्यु दर रही। आपने मार्च 2020 के बाद से अपना अधिकांश समय मध्यकालीन महाराजा की तरह अपने भव्य फार्म हाउस में बिताया और लोकतंत्र में आधुनिक मुख्यमंत्री के रूप में गायब रहे। आप कोरोंना संकट के दौरान राज्य को सम्भालने में विफल रहे, आपने लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया। 
         आप आबकारी के साथ-साथ गृह विभाग का भी नेतृत्व करने में बुरी तरह विफल रहे, अवैध लिकर और राजस्व की चोरी का कारोबार राज्य में, आपकी नाक के नीचे पूरे यौवन पर चल रहा है। गुरदासपुर, अमृतसर और तरनतारन में जहरीली शराब से 127 लोगों की मौतें अभी भी न्याय का इंतजार कर रही हैं। आप कभी भी इन मृतकों के खून से रंगे हाथ धो नहीं पाएंगे। 
         आपके कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने दलित छात्रों के लिए केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई छात्रवृत्ति का पैसा डकार लिया। विभागीय जांच में पहले मंत्री को दोषी ठहराया गया। मंत्री के खिलाफ कोई कार्रवाई न केवल मुख्यमंत्री के रूप में आपकी विफलता को दर्शाती है बल्कि भ्रष्टाचारियों को संरक्षण प्रदान करने के लिए आप पर उंगली उठाती है।
          सुभाष शर्मा ने कहाकि अगर आपकी राजनीति पंजाब में हिंसा और नक्सल युग की गति को बढ़ाती है, तो इतिहास आपको माफ नहीं करेगा। आपको अपने आराम क्षेत्र से बाहर आने की जरूरत है, मुख्यमंत्री के आधिकारिक निवास पर वापस जाएं और अपने राज धर्म का पालन करें और इन हिंसक तत्वों पर नकेल कसें।

About admin

Check Also

नवजोत सिद्धू बने पंजाब कांग्रेस के नये प्रधान, 4 कार्यकारी प्रधान होंगे, रफतार न्यूज की ख़बर पर एक बार फिर से मोहर

दिल्ली, 18 जुलाई (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः रफतार न्यूज की ख़बर पर एक बार फिर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share