Breaking News








Home / देश / तुलसी पूजन दिवस एवं गीता जयंती की तैयारी जोर-शोर से

तुलसी पूजन दिवस एवं गीता जयंती की तैयारी जोर-शोर से

छिन्दवाड़ा(भगवानदीन साहू):- परम पूज्य संतश्रीआशारामजी बापू की प्रेरणा से श्री योगवेदान्त सेवा समिति प्रतिवर्ष 25 दिसम्बर को तुलसी पूजन दिवस का आयोजन सम्पूर्ण विश्व भर में करती है। तुलसी पौधें का धार्मिक ,आध्यात्मिक एवं वैज्ञानिक महत्व भी है। असंख्य रोंगो का उपचार तुलसीदल है। आम लोगों की रोग प्रतिकारक क्षमता बढ़ाने का मुख्य आधार भी तुलसी है। तुलसी पौधा 24 घंटे आक्सीजन प्रदान कर सम्पूर्ण पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाता है। समस्त मानव कल्याणार्थ तुलसी पौधा एक औषधी है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुये तुलसी पुजन का आयोजन किया जाता है। महिला समिति की बहने सरकारी नियमों का विधिवत पालन करते हुये वार्ड-वार्ड, गाॅव-गाॅव में यह आयोजन सम्पन्न करवा रहीं है। ताकि समस्त प्राणीजन इससे लाभांवित हो। साथ ही 25 दिसम्बर को श्रीमद् भगवत गीता जयंती भी है। हमारे शास्त्रों में गीता, गंगा और गाय का विशेष महत्व है। विद्यार्थीयों में श्रीमद् भगवतगीता के संस्कारों का सिंचन हो इस निमित गीता जयंती प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। कोविड-19 के कारण प्रतियोगिता का आयोजन समस्त स्कूलों में ना होकर आनलाईन किया जा रहा है। जिसमें गुरूकुल की रश्मि चुतुर्वेदी इंदौर, प्रतियोगिता की प्रभारी है। इस प्रतियोगिता का जोरशोर से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। अभी तक लगभग 11 हजार विद्यार्थियों ने प्रतियोगिता हेतु अपना पंजीयन सुरक्षित करवाया है। इस देवीय कार्य में महिला उत्थान आश्रम एवं समिति की साध्वी नीलू बहन, साध्वी कल्पना बहन, दर्षना खट्टर, सुमन डोईफोडे, विमल शेरके, छाया सूर्यवंशी, डाॅ. मीरा पराड़कर, करूणेश पाल, वनिता सनोड़िया, शकुन्तला कराड़े, सोभा भोजवानी, निर्मिला पटेल, योगिता पराड़कर, आदि अपनी-अपनी सेवाऐं दे रहीं है।

About Sushil Parihar

Check Also

लोगों को वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक किया

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुरसराय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share