Breaking News








Home / Breaking News / पंजाब बड़े स्तर पर कोविड टीकाकरण की शुरुआत के लिए पूरी तरह तैयार-मुख्य सचिव

पंजाब बड़े स्तर पर कोविड टीकाकरण की शुरुआत के लिए पूरी तरह तैयार-मुख्य सचिव

  * विनी महाजन द्वारा कोविड मामलों की जल्द पहचान यकीनी बनाने के लिए सैंपलिंग बढ़ाने के आदेश, जालंधर डिविजऩ के सात जिलों में विकास प्रोजेक्टों की की समीक्षा
   चंडीगढ़  (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : पंजाब बड़े स्तर पर कोविड टीकाकरण की शुरुआत के लिए पूरी तरह तैयार है और लोगों के लिए जोखिम और अन्य कारकों, स्वास्थ्य संभाल के लिए प्राथमिकता और फ्रंटलाईन वर्करों के आधार पर पहचान करने और टीकाकरण के लिए ज़रुरी प्रोटोकोल जारी किए जा रहे हैं। यह जानकारी पंजाब के मुख्य सचिव श्रीमती विनी महाजन ने आज यहाँ दी।
उन्होंने कहा कि राज्य का सरकारी अमला पूरी तरह तैयार है और राज्य में बड़े स्तर पर टीकाकरण मुहिम को सुचारू ढंग से चलाने के लिए सभी ज़रुरी प्रबंध किये गए हैं। यह वैक्सीन अगले साल के शुरू में राज्य में आने की उम्मीद है। हालाँकि, इसी दौरान उन्होंने लोगों से अपील की कि वह संक्रमण को आगे फैलने को रोकने के लिए कोविड सम्बन्धी उचित सावधानियां ख़ासकर मास्क पहनने और एक दूसरे से सामाजिक दूरी बनाए रखने की सख्ती से पालना करें।
श्रीमती महाजन अपने चल रहे फील्ड दौरों के हिस्से के तौर पर आज जालंधर जिले के दौरे पर थे। इन दौरों का मंतव्य शासन में सुधार, विकास प्रोजेक्टों में तेज़ी लाने के साथ-साथ ज़मीनी स्तर पर सार्वजनिक सेवाओं की सुपुर्दगी में संपूर्ण जवाबदेही, जि़म्मेदारी और पारदर्शिता को यकीनी बनाना है।
जालंधर डिविजऩ के डिप्टी कमिश्नरों की समीक्षा मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्य सचिव ने जालंधर डिविजऩ के अधीन आने वाले सात जिलों के डिप्टी कमिश्नरों को मौजूदा समय में की जा रही रोज़ाना की 30,000 टेस्टिंग में और तेज़ी लाने की हिदायत की और टैस्ट के नतीजों के लिए 24 घंटो की समय-सीमा को सख्ती के साथ यकीनी बनाने के लिए कहा जिससे राज्य में कोविड की संभावित दूसरी लहर के प्रभाव को कम किया जा सके।
उन्होंने डिप्टी कमिश्नर को सामाजिक एकत्रता पर लगाई गई ताज़ा पाबंदियों को सख्ती से लागू करने और राज्य में पैनी निगरानी बनाए रखने की हिदायत की।
आज की मीटिंग में जालंधर, कपूरथला, होशियारपुर, अमृतसर, गुरदासपुर, पठानकोट और तरनतारन जिलों के विकास प्रोजेक्टों और प्रशासनिक कार्यों की समीक्षा की गई।
मुख्य सचिव ने डिप्टी कमिश्नरों को कहा कि वह अपने सम्बन्धी जिलों में महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों का समय पर मुकम्मल होना यकीनी बनाएं। उन्होंने विकास कार्यों पर तसल्ली अभिव्यक्त की, जो जि़ला प्रशासन के कोविड रिस्पांस के कार्य में लगे होने के बावजूद फिर शुरू किये गए हैं।
आज की मीटिंग में समीक्षा के लिए सामने आए महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों में आदमपुर सिविल हवाई अड्डे के लिए अपरोच रोड़, अमृतसर में डीएसी का कामकाज, तरनतारन लॉ यूनिवर्सिटी की शुरुआत करने की तैयारी, दिल्ली-कटरा एक्सप्रैसवे प्रोजैक्ट की प्रगति और स्मार्ट सिटी के कार्य शामिल थे।
मुख्य सचिव को स्मार्ट विलेज कैम्पेन से अवगत कराया गया और बताया कि फेज़ 1 के लिए यूईआईपी प्रोजैक्ट इस दिसंबर के आखिर तक मुकम्मल कर दिए जाएंगे और ग्रामीण एवं शहरी दोनों क्षेत्रों में फेज़ 2 प्रोजैक्ट पूरे ज़ोरों पर चल रहे हैं।
उन्होंने राज्य में यूईआईपी के हिस्से के तौर पर किये जा रहे 11,000 करोड़ रुपए के कार्यों और एसवीसी के हिस्से के तौर पर 3,610 करोड़ रुपए की लागत वाले कार्यों पर तसल्ली प्रकट की।
मुख्य सचिव ने डिप्टी कमिश्नरों को दिसंबर के आखिर तक स्कूलों और आंगनवाड़ी केन्द्रों में पीने वाले पानी और पखानों की 100 प्रतिशत उपलब्धता को यकीनी बनाने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए भी कहा। उन्होंने लड़कियों और औरतों में अनीमिया से निपटने के लिए हर संभव कोशिश करने की हिदायतें भी दीं।
बाद में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि पंजाब सरकार कोविड महामारी की संभावित दूसरी लहर का मुकाबला करने के लिए हर संभव यत्न कर रही है, जिसके लिए राज्य में सैंपलिंग सामथ्र्य में काफ़ी विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में राज्य में रोज़ाना के 30,000 कोविड टैस्ट किये जा रहे हैं, जिनमें से 75 प्रतिशत सैंपल आरटी-पीसीआर टैस्ट के लिए गए। आरटीपीसीआर टैस्ट की सटीकता के कारण इसमें और तेज़ी लाई जायेगी।
उन्होंने कहा कि अधिकारियों के साथ ऐसी ज़मीन स्तरीय मीटिंगें करने का उद्देश्य सरकार के चल रहे कामों और योजनाओं संबंधी फीडबैक लेना और जिलों में आ रही किसी भी मुश्किल या रुकावटों को हल करना है।
मुख्य सचिव के साथ वित्त कमिशनर (कर) ए. वेनू प्रसाद, प्रमुख सचिव हाउसिंग और अरबन डिवैल्पमैंट सरवजीत सिंह, प्रमुख सचिव प्लानिंग जसपाल सिंह, प्रमुख सचिव उद्योग एवं वाणिज्य अलोक शेखर, प्रमुख सचिव पीडब्ल्यूडी जसप्रीत तलवार और सचिव स्थानीय निकाय एके सिन्हा मौजूद थे। डिवीजऩल कमिश्नर राज कमल चौधरी भी मीटिंग में शामिल हुए।
डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी (जालंधर) अपनीत रयात (होशियारपुर), दीप्ति उप्पल (कपूरथला), मुहम्मद इशफाक (गुरदासपुर), संयम अग्रवाल (पठानकोट), कुलवंत सिंह (तरन तारन), अमृतसर के एडीसी हिमांशु अग्रवाल और जालंधर नगर निगम कमिश्नर करनेश शर्मा ने भी मीटिंग में शिरकत की।

About admin

Check Also

मिलखा सिंह का अंतिम संस्कार ; पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर और केंद्रीय खेल राज्य मंत्री किरेन रिजीजू भी हुए शामिल

  चंडीगढ़, 19 जून (पीतांबर शर्मा) : पंजाब के राज्यपाल और यू.टी. चण्डीगढ़ के प्रशासक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share