Wednesday , October 21 2020
Breaking News
Home / Breaking News / मुख्यमंत्री द्वारा सभी सरकारी स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों में 30 नवंबर तक साफ़ पीने वाला पानी और पखानों का प्रबंध करने के आदेश

मुख्यमंत्री द्वारा सभी सरकारी स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों में 30 नवंबर तक साफ़ पीने वाला पानी और पखानों का प्रबंध करने के आदेश

    चंडीगढ़ (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) :  पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने जल आपूर्ति एवं स्वाच्छता विभाग को निर्देश दिए हैं कि बच्चों के स्वास्थ्य को मद्देनजऱ रखते हुए ख़ासकर मौजूदा समय में कोविड की स्थिति के दौरान राज्य के सभी सरकारी स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों को 30 नवंबर तक साफ़ पीने वाला पानी और पखानों का प्रबंध करना यकीनी बनाया जाए।
साफ़ पीने वाले पानी और साफ़-सफ़ाई के लिए पानी की अपेक्षित मात्रा की कमी के कारण बच्चों में पैदा हो रही स्वास्थ्य समस्याओं पर गहरी चिंता ज़ाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने इस सम्बन्धी सरकार के मिशन तंदुरुस्त पंजाब और स्वच्छ एवं सेहतमंद पंजाब प्रोग्राम के अंतर्गत बड़े स्तर पर मुहिम शुरु करने के आदेश दिए। यह मुहिम सम्बन्धित स्कूल प्रशासनिक कमेटियां, पंचायतों और स्थानीय निकायों की भी सक्रिय हिस्सेदारी के साथ चलाई जाएगी।
मुख्यमंत्री के निर्देशों संबंधी मुख्य सचिव विनी महाजन ने गुरूवार शाम स्कूल शिक्षा, सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास, वित्त, स्थानीय निकाय, ग्रामीण विकास और जल आपूर्ति एवं स्वच्छता विभाग को अवगत करवाया।
मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए विनी महाजन ने स्थानीय निकाय और जल आपूर्ति एवं स्वच्छता विभाग को कहा कि सम्बन्धित विभागों की अनुमानित ज़रूरत के अनुसार सभी सरकारी स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों को पाईप वाला पीने वाला पानी और पखानों का प्रबंध यकीनी बनाने के लिए तुरंत कदम उठाए जाएँ।
विनी महाजन ने कहा कि स्कूलों और आंगणवाड़ी केन्द्रों में साफ़ पीने वाले पानी और पखानों और साफ़ -सफ़ाई के लिए पानी की व्यवस्था की 100 प्रतिशत कवरेज के बारे में सम्बन्धित पंचायतों/स्थानीय निकाय स्व-घोषणा पत्र देंगी। इस बात पर भी ज़ोर दिया गया कि इस मुहिम के दौरान सभी सम्बन्धित पक्ष कोविड-19 के विभिन्न प्रोटोकोल और सलाहों की पालना करने के लिए संवेदनशील होंगी।
विनी महाजन ने कहा यह मुहिम बच्चों की एकीकृत जीवन कौशल शिक्षा के साथ-साथ साफ़-सफ़ाई के अहम व्यवहारों जैसे कि पानी का संरक्षण और संभाल, पीने वाले पानी के सुरक्षित भंडारण, साबुन से हाथ धोने, निजी और सार्वजनिक साफ़-सफ़ाई पर केंद्रित होती हुई बच्चों की सहायता करने की कोशिश करेगी।
सामाजिक सुरक्षा महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रमुख सचिव राजी पी. श्रीवास्तव और स्कूल शिक्षा के सचिव कृष्ण कुमार ने मीटिंग में जानकारी दी कि राज्य में 27302 आंगणवाड़ी केंद्र और 19146 सरकारी स्कूल हैं जिनमें यह मुहिम चलाई जाएगी कि साफ़ पीने वाला पानी मुहैया करना और पखानों के लिए प्रबंध और उनके लिए पानी सप्लाई यकीनी बनाना होगा।
जल आपूर्ति एवं स्वच्छता की प्रमुख सचिव जसप्रीत तलवाड़ ने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग को बाकी बचे स्कूलों में 7152 पखानों की सीटों के निर्माण (पखानों की किल्लत दूर करने के लिए) और 467 स्कूलों में साफ़-सफ़ाई के लिए पानी मुहैया करवाने के लिए 38.76 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि बच्चों के लिए सही पखानों की सीटों के निर्माण और साफ़-सफ़ाई के लिए पानी मुहैया करवाने से 1330 आंगणवाडिय़ों में शिक्षाप्रद संदेशों की पेंटिंग के लिए सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग को 4.65 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं।

About admin

Check Also

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब विधानसभा द्वारा कृषि कानूनों के खि़लाफ़ रोष मुज़ाहरों के दौरान जान गवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि

   *  विशेष सत्र के पहले दिन विधानसभा द्वारा मशहूर शख्सियतों को भी श्रद्धांजलि    चंडीगढ़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share