Breaking News






Home / दिल्ली / बिहार: रामविलास पासवान के दिल की सर्जरी, चिराग ने ट्वीट कर दी जानकारी

बिहार: रामविलास पासवान के दिल की सर्जरी, चिराग ने ट्वीट कर दी जानकारी

ब्यूरो। केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संरक्षक रामविलास पासवान का दिल का ऑपरेशन हुआ है। यह जानकारी उनके बेटे चिराग पासवान ने रविवार को दी। 74 साल के पासवान पिछले पांच दशक से ज्यादा समय से राजनीति में सक्रिय हैं और वह देश के प्रमुख दलित नेताओ में से एक हैं। बीते कुछ हफ्तों से वे अस्पताल में भर्ती हैं।

चिराग पासवान ने ट्वीट कर कहा कि उनके पिता के दिल की सर्जरी हुई है। उन्होंने कहा, ‘पिछले कई दिनों से पापा का अस्पताल में इलाज चल रहा है। कल शाम अचानक उत्पन्न हुई परिस्थितियों की वजह से देर रात उनके दिल का ऑपरेशन करना पड़ा। जरूरत पड़ने पर संभवतः कुछ हफ्तों बाद एक और ऑपरेशन करना पड़े। संकट की इस घड़ी में मेरे और मेरे परिवार के साथ खड़े होने के लिए आप सभी का धन्यवाद।’

बता दें कि बिहार में 28 अक्तूबर को पहले चरण के लिए मतदान होना है। ऐसे अहम समय पर केंद्रीय मंत्री बीमार चल रहे हैं। उनकी बीमारी की वजह से शनिवार को होने वाली लोजपा संसदीय बोर्ड की बैठक टल गई थी। रामविलास पासवान की अचानक तबीयत बिगड़ने पर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान अपने पिता को देखने के लिए अस्पताल चले गए थे।

विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में मिल रही सीटों की संख्या को स्वीकार करने की पेशकश पर निर्णय किया जाना था, लेकिन केंद्रीय मंत्री के बीमार होने के कारण इसे टाल दिया गया। गौरतलब है कि सीट बंटवारे को लेकर एनडीए में भ्रम की स्थिति बनी हुई है।

भाजपा ने पहले कहा था कि वह जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। एनडीए की एक अन्य सहयोगी लोजपा बड़ी संख्या में सीटों की मांग कर रही है। उसके एनडीए में रहने को लेकर संशय बरकरार है। वहीं बिहार में तीन चरणों में चुनाव होने हैं। पहले चरण के लिए 28 अक्तूबर, दूसरे के लिए तीन नवंबर और तीसरे के लिए सात नवंबर क मतदान होंगे। वहीं 10 नवंबर को मतगणना की जाएगी।

About Yameen Shah

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share