Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / देश / पंजाब पुलिस ने राजिन्दरा अस्पताल पटियाला में अंग निकालने और कोविड -19 सम्बन्धी अफ़वाहें फैलाने वाले नंबरदार को किया गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने राजिन्दरा अस्पताल पटियाला में अंग निकालने और कोविड -19 सम्बन्धी अफ़वाहें फैलाने वाले नंबरदार को किया गिरफ्तार

चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) : कोविड -19 सम्बन्धी फैल रही अफ़वाहों को रोकने और ऐसा करने वालों पर लगातार शिकंजा कसते हुये पंजाब पुलिस ने लुधियाना के जट्टपुरा गाँव के नंबरदार को राजिन्दरा अस्पताल पटियाला में मानवीय अंगों की तस्करी संबंधी सोशल मीडिया पर झूठी और ऐतराजय़ोग्य पोस्ट अपलोड करने और कोविड -19 सम्बन्धी अफ़वाहें फैलाने के दोष में गिरफ्तार किया है। ऐसे व्यक्तियों के कारण न केवल आम लोगों में महामारी के प्रति बहुत दहशत का माहौल बना हुआ है बल्कि महामारी को रोकने के लिए राज्य सरकार की कोशिशों को नुक्सान पहुंच रहा है।
मुलजिम की पहचान मनदीप सिंह उर्फ दीपा पुत्र महेन्दर सिंह निवासी गाँव जट्टपुरा थाना हठूर के तौर पर हुई है। इस उक्त के विरुद्ध तारीख़ 07.09.2020 को थाना हठूर में आइपीसी की धारा 188 और आपदा प्रबंधन एक्ट की धारा 54 के अंतर्गत एफआईआर नंबर 72 दर्ज की गई है।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि जांच से पता लगा है कि मनदीप ने अपने फेसबुक प्रोफाइल ‘दीपा ढिल्लों जट्टपुरा’ पर 24.08.2020 को एक पोस्ट अपलोड की थी जिसमें उसने राजिन्दरा अस्पताल पटियाला संबंधी आलोचनात्मक टिप्पणियाँ की थीं और इसको मानवीय अंगों की तस्करी का केंद्र बताते हुये बेबुनियाद इल्ज़ाम लगाया कि वहां टीके लगा कर लोगों को मार दिया जाता है।
प्रवक्ता ने बताया कि दोषी ने कबूला है कि उसने अफरा-तफरी में जज़्बाती होकर यह पोस्ट अपलोड की थी क्योंकि हाल ही में उसके चाचे (उसके गाँव के सरपंच) की मौत कोविड -19 के कारण हुई थी।
विशेष तौर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार को डीजीपी को निर्देश दिए थे कि महामारी संबंधी लोगों में गलत जानकारी फैलाने वाली सभी अफ़वाहों और वैब चैनलों पर कार्यवाही की जाये।
प्रवक्ता ने आगे जानकारी देते हुये बताया कि पोस्ट अपलोड करने के लिए इस्तेमाल किया गया मोबाइल फ़ोन ज़ब्त कर लिया गया है और सभी तथ्यों का पता लगाने के लिए उनकी फोरेंसिक जांच की जा रही है।
एक अलग केस में जालंधर पुलिस ने एक ए.एस.आई. के पुत्र सहित दस व्यक्तियों के खि़लाफ़ नाइट कफ्र्यू की पाबंदी के दौरान पार्टी करने और गैर-कानूनी हथियार रखने के दोष के अंतर्गत और आदमपुर के मसाला जोन रैस्टोरैंट के मालिक जस्सी बांसल के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है और रैस्टोरैंट को भी सील कर दिया गया है।
दोषी कर्मवीर लंबी पुत्र गुरमेल सिंह निवासी आदमपुर, जिसके नाम पर 3 एफआईआरज़ थे और जो अब ज़मानत पर बाहर है, ने अपने 8-10 दोस्तों के लिए रैस्टोरैंट में जन्म दिन की पार्टी रखी थी। जब पुलिस ने छापा मारा तो वह भी मौके से फऱार होने में सफल हो गया।
सूचना पर कार्यवाही करते एक पुलिस पार्टी ने 6 और 7 सितम्बर की रात को रैस्टोरैंट पर छापा मारा था और 8-10 लडक़ों को पार्टी करते देखा था। प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस ने मौके से दो व्यक्तियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की और जल्द ही अन्य को पकडऩे की कोशिश जारी है।
गिरफ्तार किये गए दो व्यक्तियों की पहचान अंकित थापा और जसपाल सिंह के तौर पर हुई है। प्रवक्ता ने बताया कि 7.09.2020 को थाना आदमपुर में आइपीसी की धारा 211, 188, 51 डीएम एक्ट, 25 हथियार एक्ट के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है।
कर्मवीर लंबी ने फऱार होने के मौके पर एक नाजायज हथियार भी फैंक दिया। वह पीएपी की 7वीं बटालियन में तैनात (अब शंभू बैरियर पर तैनात) ए.एस.आई. का पुत्र है।
गिरफ्तार किये गए व्यक्तियों से पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 8 व्यक्तियों की शिनाख़्त की गई है। प्रवक्ता ने बताया कि सभी 8 व्यक्तियों को इस केस में नामज़द किया गया है और जल्द से जल्द उनको पकडऩे के लिए कार्यवाही की जा रही है।

About admin

Check Also

कोरोनाकाल में अब स्कूल बच्चों के लिए एक सपना

देश। पूरे भारत में कोरोना काल में ऐसी स्थिति बन गई ।कि लोगों को बचाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share