Breaking News






Home / दिल्ली / भारत में कोरोना के 5 करोड़ टेस्ट पूरे, पिछले 24 घंटे में

भारत में कोरोना के 5 करोड़ टेस्ट पूरे, पिछले 24 घंटे में

भारत में कोरोना के मामलों की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है. यहां रोज आ रहे नए मामलों ने दुनियाभर के देशों को पीछे छोड़ दिया है. भारत में अब तक करीब 42.7 लाख लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. वहीं, 72.8 हजार लोग इस महामारी के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं. देश में कोरोना के मरीजों की ठीक होने की संख्या 33 लाख के पार जा चुकी है और करीब 9 लाख मरीजों का इलाज जारी है.

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR)के मुताबिक देश में कोरोना की टेस्टिंग का आंकड़ा 5 करोड़ के पार जा चुका है. भारत में कल (7 सितंबर) तक कोरोना वायरस के कुल 5,06,50,128 सैंपल टेस्ट किए गए जिनमें से 10,98,621 सैंपल सोमवार को टेस्ट किए गए.

राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 2,077 नए मामले सामने आए. इसके बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.93 लाख के ऊपर पहुंच गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. दिल्ली सरकार की ओर से जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 32 और मरीजों ने दम तोड़ दिया. इसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 4,599 पर पहुंच गई.

राजधानी में पिछले चौबीस घंटे में 22,954 नमूनों की जांच की गई. दिल्ली में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 1,114 हो गई है. वर्तमान में कोविड-19 के 20,543 मरीजों का इलाज चल रहा है और 1,68,384 मरीज ठीक हो चुके हैं. इधर, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर जय प्रकाश ने सोमवार को बताया कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए है. उन्होंने उनके सपंर्क में आए सभी लोगों को अपनी जांच कराने और पृथक-वास में रहने की सलाह दी है. 50 वर्षीय भाजपा नेता जून में उत्तरी दिल्ली नगर निगम के महापौर चुने गए थे.

राज्यों के कोरोना से जुड़े अपडेट…

बिजली ग्राहकों को बड़ी राहत
दिल्ली सरकार ने बिजली ग्राहकों को बड़ी राहत दी है. डीईआरसी ने अप्रैल 2020 और मई 2020 में पूर्ण लॉकडाउन के दौरान बिजली के फिक्स्ड चार्ज 50 प्रतिशत तक घटा दिए हैं. इस अवधि के दौरान इन उपभोक्ताओं को 250 रुपए प्रति किलो वाट तिमाही की जगह 125 रुपए प्रति केवीए प्रति महीने के हिसाब से बिल देना होगा.

दर्शकों के लिए खुले फ्रेंच ओपन के गेट
फ्रांस में कोरोना वायरस के बढते मामलों के बावजूद इस महीने फ्रेंच ओपन में दर्शकों को प्रवेश की अनुमति रहेगी. आयोजकों ने क्लेकोर्ट के इस एकमात्र ग्रैंडस्लैम के स्वास्थ्य प्रोटोकॉल सोमवार को जारी किए. यह टूर्नामेंट मई में खेला जाता है लेकिन कोरोना महामारी के कारण स्थगित होने के बाद अब 27 सितंबर से खेला जाएगा. महासंघ स्टेडियम की क्षमता के 50 से 60 प्रतिशत यानी प्रतिदिन करीब 20000 प्रशंसकों की अगवानी करना चाहता है. रोलां गैरो को तीन जोन में बांटा जाएगा और दर्शक भी उस हिसाब से विभाजित रहेंगे.

आयोजकों ने कहा कि सभी खिलाड़ियों की कोरोना जांच कराई जाएगी और नेगेटिव पाए जाने पर ही वे खेल सकेंगे. उनकी 72 घंटे के भीतर दोबारा जांच होगी और हर पांच दिन में जांच होगी. फ्रांस में कोरोना वायरस से 30000 से अधिक मौतें हो चुकी हैं.

कोरोना महामारी से मची तबाही के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन का बड़ा बयान सामने आया है. डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल ने कहा कि दुनिया को अगली महामारी के लिए तैयार रहना चाहिए. उन्होंने लोगों के स्वास्थ्य व्यवस्था पर खर्च करने की दुनिया से अपील की है.

इस बीच जेनेवा में डब्ल्यूएचओ की अधिकारी डॉक्टर मिचेल रयान ने कहा कि इस मामले में पारदर्शिता और इमानदारी जरूरी है. उन्होंने इस पर राजनीति को गैरबाजिव बताया है. इस बीमारी से 2 करोड़ 73 लाख से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं जबकि 8 लाख 93 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

About Yameen Shah

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share