Tuesday , September 29 2020
Breaking News
Home / दुनिया / कोरोना योद्धा : अमृतसर के इंचार्ज एस.एम.ओ. अरुण शर्मा का दाह-संस्कार

कोरोना योद्धा : अमृतसर के इंचार्ज एस.एम.ओ. अरुण शर्मा का दाह-संस्कार

  चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) : स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू आज सिविल अस्पताल अमृतसर के इंचार्ज और सीनियर मैडीकल अफ़सर डॉ. अरुण शर्मा के अंतिम संस्कार के मौके पर शामिल हुए। डॉ. शर्मा कोविड-19 से पीडि़त थे, जिन्होंने आज प्रात:काल अमृतसर के जि़ला अस्पताल में आखिऱी साँस ली।
डॉ. शर्मा के अचानक देहांत पर गहरे दुख का प्रगटावा करते हुए स. सिद्धू ने कहा कि वह स्वास्थ्य विभाग के एक होनहार और मेहनती अधिकारियों में से एक थे, जिनकी उम्र सिफऱ् 53 साल थी। वह मार्च से ही कोविड-19 के विरुद्ध अगली कतार में लड़ रहे थे और जि़ला अस्पताल अमृतसर में दिन-रात तनदेही के साथ अपनी ड्यूटी निभा रहे थे। उसे अपनी सेवाओं के लिए हमेशा एक सच्चे कोरोना योद्धा के तौर पर याद किया जाएगा।
स. सिद्धू ने कहा कि वह दिल के मरीज़ थे। बाद में उनको अमृतसर के अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। उनको वेंटिलेटर पर रखा गया। पी.जी.आई. के माहिर डॉक्टर उनकी सेहत का ख्य़ाल रख रहे थे और राज्य सरकार द्वारा उनको पीजीआई या मेदांता अस्पताल ले जाने की तैयारी की जा रही थी। आज सुबह दिल का दौरा पडऩे से उनका देहांत हो गया। वह अपने पीछे पत्नी, बेटी और बेटा छोड़ गए हैं।
स. सिद्धू ने डॉ. अरुण शर्मा के परिवार के साथ गहरी हमदर्दी ज़ाहिर की। उन्होंने कहा कि डॉ. शर्मा की मौत के साथ परिवार को ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य विभाग को भी बड़ा नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि विभाग उनकी सहृद्य सेवाओं का हमेशा ऋणी रहेगा और दुखी परिवार के साथ खड़ा रहेगा। गौरतलब है कि डॉ. अरुण शर्मा ने मैडीकल कॉलेज अमृतसर से एमडी ट्रांसफ्यूजऩ की थी और कम्युनिटी हैल्थ सैंटर फतेहगढ़ चूडिय़ाँ में एसएमओ रहे। ब्ल्ड ट्रांसफ्यूजऩ अधिकारी के तौर पर उन्होंने ब्ल्ड बैंक अमृतसर की स्थापना में अहम भूमिका निभाई।

About admin

Check Also

कोरोनाकाल में अब स्कूल बच्चों के लिए एक सपना

देश। पूरे भारत में कोरोना काल में ऐसी स्थिति बन गई ।कि लोगों को बचाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share