Breaking News






Home / दिल्ली / दिल्ली के 29.1% लोगों में कोविड-19 एंटीबॉडी

दिल्ली के 29.1% लोगों में कोविड-19 एंटीबॉडी

दिल्ली।(ब्यूरो) देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. हालांकि देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के संक्रमण में कमी देखी जा रही है. इस बीच नए सीरो सर्वे में खुलासा हुआ है कि दिल्ली के 29.1 फीसदी लोगों में कोविड-19 एंटीबॉडी पाई गई है.

दूसरे सीरो सर्वे की रिपोर्ट जारी करते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि देश की राजधानी दिल्ली में 1 से 7 अगस्त तक सीरो सर्वे सैम्पल लिए गए थे. इसके मुताबिक 29.1% लोगों में इस बार कोविड-19 एंटीबॉडी पाई गई है. दिल्ली की आबादी लगभग 2 करोड़ है. जिसमें से 15 हजार सैम्पल लिए गए थे.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि दूसरे सीरो सर्वे में 28.3% पुरुषों और 32.2% महिलाओं में एंटीबॉडी पाई गयी है. वहीं 60 लाख लोगों में एंटीबॉडी बन गयी हैं. इससे पहले पहला सीरो सर्वे एनसीडीसी के तहत हुआ था. जिसमें करीब 23.48 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी पाई गई थी.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

बता दें कि एक तरफ जहां देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले 28 लाख के पार हो चुके हैं तो वहीं दिल्ली में 1.56 लाख से ज्यादा लोगों में कोरोना संक्रमण पाया जा चुका है. इनमें से 1.40 लाख से ज्यादा लोगों का इलाज हो चुका है. इसके अलावा दिल्ली में अब 11,137 एक्टिव कोरोना केस हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

दूसरे सीरो सर्वे में 3 तरह के एज ग्रुप को ध्यान में रखकर सैम्पल लिए गए. 5 से 17 साल की उम्र के लोगों के 25% सैम्पल लिए गए थे. 18 से 49 साल तक के उम्र के लोगों का 50% सैंपल लिए गए थे. 50 साल से अधिक उम्र के लोगों का 25% सैंपल लिए गए थे.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

वहीं 18 साल से कम उम्र के लोगों में 34.7% एंटीबॉडी पाई गयी है. 18 से 49 उम्र वालों में 28.5% लोगों में एंटीबॉडी बनी जबकि 50 साल से अधिक उम्र के 31.2% लोगों में एंटीबॉडी पाई गई है. आंकड़ों से साफ है कि 18 साल से कम उम्र के लोग कोरोना से अधिक संक्रमित हो रहे हैं और खुद ठीक भी हो रहे हैं.

संक्रमण की संभावना

वहीं सवाल पूछने पर की क्या दिल्ली में स्थिति ठीक नही है? तो सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में लोग ख्याल रख रहे हैं. ज्यादा तेजी से संक्रमण नहीं फैला है. सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में 71 फीसदी लोगों में संक्रमण होने की संभावना अब भी बरकरार है. अगला सीरो सर्वे 1 से 5 सितंबर के बीच होगा.

एंटी बॉडी किसी शरीर में कब तक रहती हैं? इस पर सत्येंद्र जैन ने कहा कि वैज्ञानिकों के मुताबिक किसी शरीर मे 3 से 8 महीने तक एंटीबॉडी रहती है. साथ ही शरीर में टी-सेल भी बनते हैं. जिनकी उम्र काफी अधिक होती और अगर आपको एक बार कोरोना हो गया है तो बहुत कम संभावना है कि दोबारा आप कोरोना से संक्रमति हों.

हर्ड इम्युनिटी

हर्ड इम्युनिटी के बारे में सत्येंद्र जैन ने कहा कि वैज्ञानिकों के मुताबिक 40 से 60 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी मिलने पर हर्ड इम्युनिटी होती है. लेकिन दिल्ली में फिलहाल 29.1% लोगों में एंटीबॉडी पायी गयी है. हो सकता है कि अगले एक दो महीने में दिल्ली हर्ड इम्युनिटी की तरफ बढ़े. सत्येंद्र जैन ने कहा कि पहले और दूसरे सर्वे का आंकलन करने की बात भी कही है. जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना खत्म नहीं हुआ है.

About Yameen Shah

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share