Monday , September 28 2020
Breaking News
Home / Uncategorized / उत्तराखंड सभा व उत्तरांचली कल्चरल एवं वैल्फेयर सोसायटी पटियाला ने किया ध्वजारोहण

उत्तराखंड सभा व उत्तरांचली कल्चरल एवं वैल्फेयर सोसायटी पटियाला ने किया ध्वजारोहण

पटियाला (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : उत्तराखंड सभा पटियाला व, उत्तरांचली कल्चरल एवं वैल्फेयर सोसायटी (रजि.) पटियाला द्वारा एकता नगर-बी में , सोसायटी-सभा के प्लाट में 74वां स्वतंत्रता दिवस पर करोना महामारी के संकटकालीन समय को मुख्य रखते हुए साधारण रूप से ध्वजारोहण किया गया ।
इस अवसर पर ध्वजारोहण की रश्म सभा की महिला शाखा की प्रधान श्रीमति रोशनी देवी जी द्वारा तिरंगा ध्वज लहरा कर अदा की गई। इस अवसर पर महीला प्रधान द्वारा उपस्थित सदस्यों को प्रेरित करते हुए क्रोना महामारी के मद्देनजर डिस्टैंस का ध्यान रखने की अपील के साथ-साथ , इस महामारी से बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का सभी से पालन करने का अनुरोध किया गया ।
इस अवसर पर सभा के प्रधान श्री जोत सिंह भंडारी द्वारा देश के शहीदों को नमन करते हुए, निकट भविष्य में क्रोना महामारी के संकटकालीन समय के उपरांत सोसायटी- सभा के प्लाट में भवन को बनने की अपनी कृत-संकल्पतता ब्यक्त की गयी।
उत्तरांचली कल्चरल वैल्फेयर सोसायटी के प्रधान श्री रमेश भंडारी द्वारा सभी आये हुए सक्रीय कार्यकर्ताओं का ,व करोना काल के आपातकालीन समय में जन सेवा हित में कार्यरत रहे सभी सहयोगि – सहयोगि संस्थाओं का विशेष धन्यवाद किया गया, जिन्होंने कि कर्फ्यू दौरान असहाय वह संकट में फंसे लोगों की तन से, धन से, वह शारीरिक परिश्रम से जरूरत मंदो की हर संभव मदद की।का विशेष धन्यवाद किया।
सभा के महासचिव श्री भगतसिंह भंडारी द्वारा भी सभी करोना सिपाहियों, प्रहरी यों ,जरूरी सेवाओं से संबंधित सभी सरकारी , अर्ध सरकारी, सभी सेवारत संस्थाओं सामाजिक संगठनों का , प्रैस की भूमिका का जिन्होंने जरूरत मंदो की सहायता हेतु विशेष भूमिका निभाई का विशेष धन्यवाद किया।
इस अवसर पर अन्य संबोधन कर्त्ताओं में, श्री उत्तम सिंह रमोला (उप प्रधान), श्री देवेन्द्र सिंह रमोला (सचिव), श्री मती सुनीता देवी (सचिव),श्रीमती पूर्णा देवी, श्रीमति उर्मिला देवी, श्रीमति कलावती देवी, श्रीमति बीना देवी, श्री मती प्यारी देवी, श्री रामविलास ने अपने विचार रखे।
ध्वजारोहण उपरांत मिष्ठान वितरण किया गया।
वहीं देश के स्वतंत्रता संग्राम में काम आते वीरों को याद करते हुए नमन कीया गया व दो मिनट मौन रखते हुए उन्हें श्रृद्धांजलि अर्पित की गई।

About admin

Check Also

।। एक मार्मिक व हृदयस्पर्शी सच्ची घटना ।।

सुबह सूर्योदय हुआ ही था कि एक वयोवृद्ध डॉक्टर के दरवाजे पर आकर घंटी बजाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share