Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / दिल्ली / कांग्रेस विधायक दल की सभा से पहले BJP का ऐलान- लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

कांग्रेस विधायक दल की सभा से पहले BJP का ऐलान- लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

राजस्थान: अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच चल रहे सियासी विवाद के थमने के बीच कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र को लेकर राजनीति गर्मा गई है. राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया ने आज कहा कि कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में उनकी पार्टी अविश्वासमत का प्रस्ताव लाएगी. इससे पहले प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा कि गहलोत सरकार अंदरूनी संकट से जूझ रही है. जिस तरह से गहलोत बनाम पायलट विवाद खत्म हुआ है, उसको देखते हुए लगता है कि सरकार विधानसभा में विश्वासमत का प्रस्ताव ला सकती है. बीजेपी ऐसे किसी हालात के लिए तैयार है. अगर ऐसा होता है तो बीजेपी भी विधानसभा में अविश्वासमत का प्रस्ताव लाएगी.

विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले बीजेपी की तरफ से अविश्वासमत का प्रस्ताव लाने के ऐलान से प्रदेश की सियासत एक बार फिर गर्माने के संकेत मिल रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने साफ कहा कि बीजेपी और उसके सहयोगी दल कल विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएंगे. इससे पहले बीजेपी प्रदेश इकाई के प्रमुख सतीश पूनिया ने भी यही बयान दिया है.

इधर, राजस्थान विधानसभा सत्र की शुरुआत से पहले आज शाम कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने जा रही है. राजधानी जयपुर में सीएम गहलोत के सरकारी आवास पर आज शाम 5 बजे से यह बैठक होगी. गौरतलब है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के शामिल होने को लेकर भी आज सुबह से अटकलें लगाई जा रही थीं. कहा जा रहा था कि इस बैठक में बगावती तेवर अपनाने वाले विधायकों को नहीं बुलाया जाएगा. लेकिन दोपहर बाद स्थिति साफ हो गई. कांग्रेस की तरफ से स्पष्ट कर दिया गया कि विधायक दल की बैठक में सीएम गहलोत और सचिन पायलट की मुलाकात होगी. इसके बाद सभी विधायकों के आने की बातें भी साफ हो गई हैं.

बहरहाल, कांग्रेस में मचा घमासान शांत होने के बाद सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है उसे भूलकर डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है. सीएम गहलोत ने गुरुवार को एक के बाद एक कई ट्वीट करके कहा कि ‘सेव डेमोक्रेसी’ हमारी प्रायोरिटी होनी चाहिए. गहलोत ने अपने ट्वीट्स में कहा कि, ‘कांग्रेस की लड़ाई तो सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी के नेतृत्व में डेमोक्रेसी को बचाने की है. पिछले एक माह में कांग्रेस पार्टी में आपस में जो भी नाइत्तेफ़ाकी हुई है, उसे देश के हित में, प्रदेश के हित में, प्रदेशवासियों के हित में और लोकतंत्र के हित में हमें फॉरगेट एन्ड फॉरगिव, आपस में भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है.

About Yameen Shah

Check Also

पीएम मोदी ने सीएम योगी से की बात, हाथरस गैंगरेप केस कड़ी कार्रवाई करने को कहा

लखनऊ।(ब्यूरो) हाथरस गैंगरेप कांड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share