Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / Breaking News / कनाडा तथा इंगलैंड की यूनिवर्सिटी में हैकरों की सेंधमारी, छात्रों का डाटा चोरी

कनाडा तथा इंगलैंड की यूनिवर्सिटी में हैकरों की सेंधमारी, छात्रों का डाटा चोरी

वेनकुवर (रफतार न्यूज डेस्क): कनाडा तथा इंगलैंड की करीब 8 यूनिवर्सिटियों के डाटा में हैकरों की सेंधमारी कर ली है। हैकरों ने अमेरिकी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कंपनी ब्लैकबाड पर बड़े पैमाने पर किए गए साइबर हमले के जरिये यूनिवर्सिटी ऑफ यॉर्क, यूनिवर्सिटी कॉलेज, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ लीड्स और यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन समेत कई विश्वविद्यालयों को निशाना बना लिया है। मौजूदा और पूर्व छात्रों के डाटा चोरी होने पर इन प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटियों ने प्रभावित विद्यार्थियों से माफी मांगी है।
दुनिया की सबसे बड़ी एजुकेशन एडमिनिस्ट्रेशन और फाइनेंशियल मैनेजमेंट प्रोवाइडर कंपनी ब्लैकबाड को 2 महीने पुर्व मई में हैक किया गया था। हालांकि कंपनी ने अभी तक इस घटना को उजागर नहीं किया है। अब पता चला है कि डाटा चोरी से 8 यूनिवर्सिटी प्रभावित हुई थीं।
हैकरों का निशाना बनने वाले सभी विश्वविद्यालय उन सभी लोगों को ईमेल भेजकर माफी मांग रहे हैं, जिन विद्यार्थियों की जानकारी चोरी हुई है। यह बताया जा रहा है कि मौजूदा और पूर्व छात्रों के साथ ही स्टाफ के बारे में भी डाटा चोरी हो गया है यही नहीं हैकर इतने शातिर निकले कि फोन नंबर और चंदा देने वालों के डाटा में भी सेंधमारी कर ली।
बता दें कि अभी हाल ही में आइबीएम साइबर सुरक्षा शोधकर्ताओं ने ईरानी हैकरों के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया था। इस गिरोह से संबंधित डाटा और वीडियो भी पाए गए थे। अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनी आइबीएम की इंसिडेंट रिस्पांस इंटेलीजेंस सर्विसेज के शोधकर्ताओं ने आइटीजी18 नामक ईरानी गिरोह के बारे में दुर्लभ जानकारी उजागर करने में सफलता पाई थी। आइटीजी18 से जुड़ा एक सर्वर खुला पाया गया था। इस सर्वर में गिरोह की गतिविधियों के बारे में 40 जीबी से ज्यादा डाटा था।

About admin

Check Also

देश के सभी पाठ्यक्रमों में श्रीमद्भगवद गीता एवं श्री रामायण शामिल किये जाने के आदेश पर उ.प्र. सरकार ने शुरूआत की

छिन्दवाड़ा(भगवानदीन साहू):- सामाजिक कार्यकर्ता भगवानदीन साहू के नेतृत्व में अन्य धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share