Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / देश / गुना में दलित किसान के साथ मारपीट

गुना में दलित किसान के साथ मारपीट

छिन्दवाड़ा-(सुशील सिंह परिहार)- कांग्रेस सेवादल कार्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कांग्रेस सेवादल जिलाध्यक्ष सुरेश कपाले ने बताया कि म.प्र. के गुना में पुलिस एवं प्रशासन द्वारा अतिक्रमण के नाम पर कर्ज लेकर तैयार की गयी दलित किसान की फसल को जे.सी.बी.मशीन द्वारा बर्बाद कर दिया गया तथा पुलिस के द्वारा दलित किसान पति -पत्नि की बेरहमी से पिटाई की गयी ,जिससे दलित किसान पति और पत्नि को आत्महत्या करने के प्रयास करने को मजबूर होना पड़ा। इस घटना की देशव्यापी निंदा होना स्वाभाविक हैं। कांग्रेस सेवादल ने भी इस घटना की घोर निंदा की एवं बेहद शर्मनाक बताया और दोषियों पर सख्त कार्यवाही करने की मांग की गयी । भाजपा सरकार दलितों की हितैषी बनने का डिडोरा पीटती हैं और ढोंग करती हैं एवं दूसरी ओर शासन के अधिकारी दलितों पर अत्याचार कर रहे हैं। गुना पुलिस एक दलित दम्पत्ति से जमीन छुड़वाने गयी थी । कांग्रेस सेवादल ने इस घटना की उच्च स्तरीय जांच कराये जाने की मांग की ,और कहा कि पीड़ित परिवार का जमीन संबंधी शासकीय विवाद था तो कानूनन रूप से उसका हल किया जाना चाहिये था इस तरह कानून को हाथ में लेकर दलित परिवार के पति -पत्नि और मासूम बच्चों की बेरहमी की पिटाई करना कहाॅं तक न्यायोचित हैं। यह सब इसलिये हुआ कि ये गरीब और दलित किसान था । ऐसी घटना बर्दास्त करने योग्य नहीं हैं। इस घटना से संबंधित प्रशासन के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों की उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जावें। पुलिस द्वारा इस बेरहमी से की गई पिटाई की कांग्रेस सेवादल ने घोर निंदा की हैं । कड़ी कार्यवाही करने की मांग करने वालों में कांग्रेस सेवादल के जिलाध्यक्ष सुरेश कपाले ,मिलिन्द नाडकर ,राकेश मरकाम ,दिनेश डेहरिया ,निखिलेश चरण दुबे ,शेषराव उइके ,बसोड़ीलाल परतेती ,प्रेम उइके ,जुगनू धुर्वे ,दीपक बाजपेयी ,संजय विश्वकर्मा ,कमल मदान ,कमल राय ,कमलेश पाल , महेन्द्र सिंह ठाकुर ,संजय पांडेय ,अर्जुन मरकाम ,मनोज पांडेय ,बलराम सिंह चैहान ,कन्हैया सिगोनिया ,पंचम अमरोदे ,लवकेश यादव ,हेमंत सिंह राजपूत ,हेमबाबू सिंह राजपूत ,महेश गढे़वाल ,रेशमा खान ,डाॅ.शबाना यास्मीन खान ,रानू सोनी ,कल्पना पहाडे़ एवं बड़ी संख्या में पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता सम्मिलित हैं।

About Sushil Parihar

Check Also

सुप्रीम कोर्ट: 4 अक्टूबर को ही होगी यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा

दिल्ली।(ब्यूरो) यूपीएससी सिविल सर्विस प्री परीक्षा 2020 4 अक्टूबर को ही आयोजित की जाएगी। सुप्रीम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share