Thursday , September 24 2020
Breaking News
Home / Breaking News / स्वास्थ्य विभाग में डाक्टर, पैरा मैडीकल स्टाफ समेत 4000 पद भरे जाएंगे – स्वास्थ्य मंत्री

स्वास्थ्य विभाग में डाक्टर, पैरा मैडीकल स्टाफ समेत 4000 पद भरे जाएंगे – स्वास्थ्य मंत्री

चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) :  पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से कोविड -19 के खि़लाफ़ शुरु की जंग ‘मिशन फतेह’ की सफलता के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सितम्बर 2020 तक डाक्टरों समेत पैरा मैडीकल स्टाफ और अन्य अमले के 4000 पद भरे जाएंगे। यह जानकारी पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और श्रम मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने एक प्रैस बयान के द्वारा दी।
स. सिद्धू ने कहा कि हुनरमंद कर्मचारियों की कमी को पूरा करने के लिए 4000 पदों का एजेंडा मंत्रीमंडल की मीटिंग में रखा जायेगा। स्वास्थ्य मंत्री स. सिद्धू ने आज मिशन फतेह के अंतर्गत लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के मंतव्य से राजपुरा और खन्ना में 30 बैडों के सामथ्र्य वाले 2 नये बनाए जच्चा बच्चा स्वास्थ्य संभाल अस्पताल लोगों को समर्पित किये। अति आधुनिक सहूलतों से लैस यह अस्पताल क्रमवार 6 करोड़ और 9 करोड़ रुपए की लागत से बनाए गए हैं।
इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब निवासियों को भयानक महामारी कोविड -19 से बचाने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व अधीन पंजाब सरकार ने देश भर में सबसे पहले कार्यवाही करते हुये ठोस कदम उठाए जिसको बाद में पूरे देश में लागू किया गया और अब मिशन फतेह के अंतर्गत कोरोना वायरस को हराने के लिए बड़े स्तर पर जंग लड़ी जा रही है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह मिशन फतेह की सफलता के लिए जहाँ ख़ुद एहतियात बरतें वहीं दूसरों को भी मास्क पहनने, हाथ धोने, कोवा एप डाउनलोड करने और आपसी दूरी रखने संबंधी जागरूक करें।
स. सिद्धू ने कहा कि बैंकिंग प्रणाली की तजऱ् पर पंजाब में जल्द ही स्वास्थ्य सेवाओं का आधुनिकीकरन करके कम्प्यूट्राइजेशन किया जा रहा है और इसके अलावा पंजाब में 9 ट्रौमा सैंटर बनाऐ जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सभी अस्पतालों में निजी हिस्सेदारी के साथ सी.टी. स्कैन और अल्ट्रासाउंड की सहूलतें पी.जी.आई. और एमज के रेटों पर जल्द शुरू होने जा रही हैं, जिससे स्वास्थ्य सेवाओं का और मज़बूतीकरन और सुधार होगा।
स. सिद्धू ने कहा कि पंजाब में कोरोना वायरस और अन्य बीमारियों के साथ लडऩे के लिए हमारे डाक्टरों ने कोरोना योद्धे बनकर बहुत बढ़ी सेवाएं प्रदान की हैं और अब सरकारी अस्पतालों में डाक्टरों की कमी पूरी करने के लिए 30 सितम्बर, 2020 तक डाक्टरों की भर्ती बाबा फऱीद मैडीकल यूनिवर्सिटी के द्वारा मुकम्मल कर ली जायेगी।

About admin

Check Also

CAG: राफेल डील में दसॉ एविएशन ने अभी तक नहीं किया ऑफसेट दायित्वों का पालन

दिल्ली।(ब्यूरो) नियंत्रक व महालेखा परीक्षक ने ऑफसेट से जुड़ी नीतियों को लेकर रक्षा मंत्रालय की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share