Wednesday , June 16 2021
Breaking News








Home / Breaking News / कोरोना: महाराष्ट्र तथा पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन

कोरोना: महाराष्ट्र तथा पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन

मुंबई (रफतार न्यूज डेस्क): देश में कोरोनावायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. भारत में कोरोना से 5 लाख 48 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 16 हजार 400 से ज्यादा लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. इस बीच कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में इसके बढ़ते मामले को देखते हुए लॉकडाउन को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोविड-19 के मामलों को देखते हुए उद्धव ठाकरे ने यह फैसला किया है.
बता दें कि महाराष्ट्र में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 64 हजार पार कर गया है. वहीं, राज्य में इस महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 7,429 हो गया है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए कई राज्यों ने लॉकडाउन को बढ़ाया है. इससे पहले पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन को 31 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया था.
महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि करोना को नियंत्रित करने के लिए राज्य में संबंधित नगर निगमों के आयुक्त और जिला कलेक्टर कुछ गैर-आवश्यक गतिविधियों और व्यक्तियों की आवाजाही पर निर्दिष्ट स्थानीय क्षेत्रों में कुछ उपायों और आवश्यक प्रतिबंधों को लागू कर सकते हैं. सरकार ने आदेश जारी कर कहा कि आपातकालीन, स्वास्थ्य और चिकित्सा, कोषागार, आपदा प्रबंधन, पुलिस जैसे सरकारी कार्यालय 15 प्रतिशत क्षमता या फिर 15 व्यक्तियों (जो अधिक हो) के साथ काम करेंगे. सभी निजी कार्यालय 10 प्रतिशत क्षमता या 10 लोग जो भी अधिक हो, के साथ काम कर सकते हैं.
ठाकरे ने कल ही कहा था कि 30 जून के बाद भी महाराष्ट में पाबंदियां जारी रहेंगी. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को टेलीविजन पर संबोधन में कहा कि 30 जून के बाद भी राज्य में लॉकडाउन की पाबंदियां जारी रहेंगी. ठाकरे ने पाबंदियों में ढील दिए जाने से इंकार करते हुए कहा कि महाराष्ट में कोरोना वायरस का खतरा अब भी बना हुआ है. ठाकरे ने बाद में ट्वीट किया, ‘‘क्या 30 जून के बाद लॉकडाउन हटाया जाएगा? स्पष्ट उत्तर ‘नहीं’ है.’’ ठाकरे ने कहा कि अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए अनलॉक की प्रक्रिया को धीरे-धीरे लागू किया जा रहा है, जिसे ‘मिशन बिगिन अगेन’ नाम दिया गया है. उन्होंने कहा कि 30 जून के बाद पाबंदियों में कुछ ढील होगी लेकिन धीरे-धीरे ज्यादा ढील दी जाएगी. उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में मिशन बिगिन अगेन के तहत अनलॉक प्रक्रिया शुरू की गई है. 30 जून के बाद भी पाबंदियां जारी रहेंगी लेकिन धीरे-धीरे लोगों को ज्यादा ढील दी जाएगी.’’
महाराष्ट के मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘मामले के आधार पर ढील दी जाएगी. उदाहरण के लिए यात्री परिवहन पर कुछ पाबंदियां जारी रहेंगी लेकिन कुछ स्थानीय सेवाओं को अनुमति दी जाएगी.’’ ठाकरे ने कहा कि चूंकि बड़ी संख्या में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, इसलिए कड़ा अनुशासन लागू रहना जरूरी है.
इस दौरान सभी आवश्यक दुकानें, जरूरी और गैर-जरूरी वस्तुओं के लिए ई-कॉमर्स गतिविधि, सभी औद्योगिक इकाइयां जो अभी फिलहाल चालू हैं और खाने की होम डिलीवरी की इजाजत होगी.
उन्होंने कहा, ‘‘मैं लॉकडाउन शब्द का प्रयोग नहीं भी कर रहा हूं तो भी गलतफहमी में नहीं रहें और सुरक्षा कम नहीं करें. वास्तव में हमें ज्यादा अनुशासन दिखाने की जरूरत है.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट अभी खत्म नहीं हुआ है. उन्होंने कहा, ‘‘हम इस युद्ध को अंतिम चरण में आधा-अधूरा नहीं छोड़ सकते. मुझे विश्वास है कि आप सरकार के साथ सहयोग करते रहेंगे ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि लॉकडाउन फिर से लागू नहीं हो.’’ उन्होंने कहा कि हम शिक्षा को फिर से शुरू करने पर ध्यान दे रहे हैं क्योंकि यह स्कूल खोले जाने से ज्यादा महत्वपूर्ण है.
मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि मॉनसून शुरू हो चुका है और भारी बारिश तथा बीमारियों जैसे मुद्दे के समाधान के लिए हमने बैठकें करनी शुरू कर दी हैं. उन्होंने कहा, ‘‘बारिश के कारण बीमारियां फैल सकती हैं और हमने आसपास साफ-सफाई रखकर एहतियात बरतना शुरू कर दिया है और सुनिश्चित कर रहे हैं कि कहीं पानी जमा नहीं हो.’’

About admin

Check Also

Haryana News: महिला की बेरहमी से हत्या, झज्जर में मिला कटा हुआ सिर, रोहतक में धड़

रोहतक (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः हरियाणा के रोहतक जिले के चुलियाना गांव के पास एक दिल दहला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share