Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / दुनिया / चीन द्वारा अब देपसांग में घुसपैठ की कोशिश: चीनी सैनिकों ने लद्दाख के देपसांग इलाके में तम्बू गाड़े, मिलिट्री व्हीकल, तोपें पहुंचाईं
Maxar WorldView-3 satellite image shows area near the Line of Actual Control (LAC) and Patrolling Point 14 in the eastern Ladakh sector June 22, 2020. Maxar Technologies via REUTERS ATTENTION EDITORS - THIS IMAGE HAS BEEN SUPPLIED BY A THIRD PARTY. NO RESALE. NO ARCHIVE. MANDATORY CREDIT. MUST CREDIT MAXAR TECHNOLOGIES. MUST NOT OBSCURE WATERMARK

चीन द्वारा अब देपसांग में घुसपैठ की कोशिश: चीनी सैनिकों ने लद्दाख के देपसांग इलाके में तम्बू गाड़े, मिलिट्री व्हीकल, तोपें पहुंचाईं

नई दिल्ली (रफतार न्यूज डेस्क): भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव कम होता नहीं दिख रहा है। गलवान घाटी के बाद अब चीन की सेन्य हलचल अब देपसांग सेक्टर में भी बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि चीन के सैनिक यहां घुसपैठ की कोशिश में हैं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने पूर्वी लद्दाख के दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) हवाई पट्टी से 30 किलोमीटर और देपसांग से 21 किलोमीटर दूर बड़ी संख्या में सेना तैनात कर दी है। यहां चीनी कैम्पों में सैन्य गाड़ियां और तोपें पहुंच रहीं हैं।
चीन इस इलाके में पेट्रोलिंग प्वाइंट 10 से 13 के बीच भारतीय सेना के लिए मुश्किल खड़ी करना चाहता है। वह काराकोरम दर्रे के पास के इलाकों में कब्जा करना चाहता है, ताकि उसे पाकिस्तान जाने वाले हाईवे के लिए रास्ता मिल जाए। भारत ने इस प्रोजेक्ट के निर्माण को रोक दिया था। इससे पहले चीन और भारत के बीच गलवान घाटी, पैंगोग सो और हॉट स्प्रिंग्स इलाके में तनाव जारी है।
पाठकों को बता दें कि लद्दाख की गलवान घाटी में 10 दिन पहले भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद एक सैटेलाइट इमेज से नया खुलासा हुआ है। इस हाई रेजोल्यूशन इमेज में गलवान नदी के आसपास लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के दोनों ओर चीनी सेना के कई निर्माण या कैम्प साफ तौर पर दिखाई दे रहे हैं।

About admin

Check Also

कोरोनाकाल में अब स्कूल बच्चों के लिए एक सपना

देश। पूरे भारत में कोरोना काल में ऐसी स्थिति बन गई ।कि लोगों को बचाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share