Friday , September 25 2020
Breaking News
Home / Breaking News / भारत: भूकंप से हिला मणिपुर, मिजोरम, असम और मेघालय – 5.1 तीव्रता के झटके

भारत: भूकंप से हिला मणिपुर, मिजोरम, असम और मेघालय – 5.1 तीव्रता के झटके

नई दिल्ली (रफतार न्यूज डेस्क): मिजोरम के चमफाई जिले में सोमवार सुबह 4 बजकर 10 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए. भूकंप की तीव्रता 5.3 रही. किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है. भूकंप का केंद्र चमफाई जिले में जमीन से 20 किलोमीटर नीचे रहा.
जैसे ही भूकंप के झटके महसूस हुए लोग अपनी घरों के बाहर की ओर भागने लगे. हालांकि इससे कोई नुकसान की कोई खबर नहीं है. नैशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार असम समेत उत्तर पूर्व के कई राज्यों में भूकंप के झटके महसूस किये गये हैं. जिसमें मिजोरम और मेघालय भी शामिल हैं. यहां भी जान मान के नुकसान की कोई खबर नहीं है.
इससे पहले 21 जून को असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम में भूकंप के झटके महसूस किए गए. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.1 थी. मिजोरम के आइजोल जिले में भूकंप का केंद्र बताया जा रहा था. शाम करीब 4.16 बजे असम में गुवाहाटी समेत कई इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे.
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी के अनुसार, भूकंप के झटके मिजोरम की राजधानी आइजोल और आसपास के अन्य पूर्वोत्तर राज्यों के क्षेत्रों में शाम 4.16 बजे महसूस किए गए. कुछ सेकंड तक आए भूकंप का केंद्र 35 किलोमीटर की गहराई पर था. इससे पहले राज्य में गुरुवार रात को भी 5 की तीव्रता वाला भूकंप आया था.
इससे पहले जम्मू-कश्मीर में लगातार 2 दिन भूकंप के कई झटके महसूस किए गए थे. तजाकिस्तान समेत आसपास के इलाकों में 16 जून को भूकंप आया था. सुबह 7 बजे आए इस भूकंप की तीव्रता 5.8 आंकी गई थी. भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान के दसहांबे से 341 किलोमीटर दूर रहा. इसका असर जम्मू-कश्मीर में भी देखने को मिला था.
बीते कुछ दिनों से लगातार पूर्वोत्तर से लेकर गुजरात तक हर जगह भूकंप के झटके लगातार आ रहे हैं. गुजरात में 15 जून को भूकंप का झटका महसूस किया गया था. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.5 रही. भूकंप का केंद्र कच्छ से 15 किलोमीटर दूर रहा. वहीं, 14 जून को कच्छ में 5.5 तीव्रता का भूकंप आया था.

About admin

Check Also

चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाला शातिर गैंग दबोचा

UP। मुरादनगर पुलिस ने चेकिंग के दौरान चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share