Breaking News
Home / हरियाणा / हरियाणा में कोविड-19 की स्थिति ठीक है : केशनी आनन्द अरोड़ा

हरियाणा में कोविड-19 की स्थिति ठीक है : केशनी आनन्द अरोड़ा

चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) :- हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा में वैश्विक महामारी कोरोना से लडऩे के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रभावी प्रयासों के दृष्टिगत अब तक हरियाणा की स्थिति ठीक बनी हुई है और आगे भी बेहतर स्थिति बनी रहे, इसके लिए शासन और जिला प्रशासन द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं।
मुख्य सचिव ने आज यहां सभी जिलों में कोविड-19 के लिए नियुक्त सुपरवाईजऱी अधिकारियों के साथ कोविड की रोकथाम के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक की।
उन्होंने निर्देश दिए कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जिलों में वेंटिलेटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर तथा अन्य चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता और आपूर्ति सुनिश्चित करने, टेस्टिंग की सुविधा को बढ़ाने के साथ-साथ होम आइसोलेशन को बढ़ावा दिया जाए। इसके अलावा, कोविड केयर सेंटर की संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया जाए।
मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि कोविड के साथ-साथ इस समय में लोगों के मनोबल को बनाए रखना भी जरूरी है, इसलिए जो रोगी कोविड से लडक़र ठीक हुए हैं और जिन्होंने होम आइसोलेशन में रहकर कोविड के खिलाफ जिंदगी की लड़ाई जीती है, ऐसे सभी लोगों की कहानियां अन्य लोगों तक पहुंचाएं ताकि मनौवैज्ञानिक दृष्टि से लोगों का मनोबल मजबूत हो।
उन्होंने निर्देश दिए कि सभी जिलों में कोविड केयर सेंटरों को अस्पतालों के साथ लिंक किया जाए और इन सेंटरों पर एक अधिकारी की विशेष तौर पर डयूटी लगाई जाए जो सभी प्रकार की व्यवस्थाओं के बारे में उत्तरदायी होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन सिलेंडरों की उपलब्धता सुनिश्चित करें ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने में पूरी तरह से तैयार रहें। उन्होंने निर्देश दिए कि अब कंटेनमेंट जोन पर सीसीटीवी कैमरों से निगरानी करने की व्यवस्था पर बल दिया जाए।
बैठक में सुपरवाईजऱी अधिकारियों ने जिलों में कोविड को लेकर किए गए प्रबंधों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। अधिकारियों ने जिलों में टेस्टिंग सुविधा बढ़ाने, कंटेनमेंट जोन के सीमा निर्धारण, होम आइसोलेशन को बढ़ावा देना और जरूरतमंदों के लिए इंस्टिट्यूशनल आइसोलेशन की व्यवस्था करने और गतिविधियों के सही प्रबंधन के लिए प्रत्येक कार्य के लिए विशेष अधिकारी की डयूटी लगाने जैसे विभिन्न सुझाव भी दिए। मुख्य सचिव ने अधिकारियों द्वारा दिए गए सुझावों को आगामी योजनाओं में सम्मिलित करने का आश्वासन दिया।
बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आलोक निगम, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा और पुलिस महानिदेशक श्री मनोज यादव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

About admin

Check Also

कड़े प्रतिबंध लगाने का ; पंजाब को कोविड के मामले में मुम्बई, दिल्ली, तमिलनाडु नहीं बनने देना चाहता : अमरिन्दर

चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) :  कोविड के मामलों की बढ़ती संख्या के चलते पंजाब सरकार द्वारा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share