Breaking News






Home / देश / शांडिल्य ने खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने के लिए गृह मंत्रालय व पंजाब सरकार को भेजी शिकायत

शांडिल्य ने खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने के लिए गृह मंत्रालय व पंजाब सरकार को भेजी शिकायत

  पटियाला (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : – एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं श्री हिन्दू तख्त के राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य ने जारी प्रेस ब्यान में कहा कि विदेश में बैठकर तथाकथित खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू द्वारा माहौल खराब करने हेतु पंजाब के लोगों को 6 जून को भिंडरावाला की फ़ोटो लगी टीशर्ट पहनकर अमृतसर पहुंचने का आह्वान किया है इसपर आग बबूला होते हुए शांडिल्य ने कहा कि जो भी व्यक्ति 6 जून या उसके बाद पन्नू के आह्वन पर ऐसा करता है तो उसे देशद्रोह का केस दर्ज कर जेल में डाला जाए ।

शांडिल्य ने कहा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा वह खालिस्तानियों को बख्शेंगे नही इसके लिए उन्हें शुरुआत अमृतसर से करनी होगी और कट्टरपंथियों पर शिकंजा कसना होगा ।वही श्री हिन्दू तख्त प्रचारक शांडिल्य ने आज भारत के गृहमंत्री अमित शाह व पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पन्नू के खिलाफ शिकायत भेजकर उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की और कहा कि पन्नू का खालिस्तान को लेकर वीडियो पंजाब की अमन व शांति के लिए खतरा है और उन्हें पन्नू का वीडियो पाकिस्तान के नम्बर से मिला जो जांच का विषय है ।

शांडिल्य ने कहा पाकिस्तानी आतंकवादी व खालिस्तानी एक हो चुके है अब सरकार को इनके खिलाफ सख्त कदम उठाना होगा । शांडिल्य ने कहा जब विजय माल्या को भारत मे लाने के लिए कार्रवाई हो सकती है तो भारत के खिलाफ जहर उगल रहे पन्नू को भारत सरकार क्यो नही ला पा रही है । उन्होंने कहा अगर पन्नू पर संतोषजनक कार्रवाई न हुई तो फ्रंट व हिन्दू तख्त सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा व पन्नू के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर उसे भारत लाने की मांग करेगा ताकि देश की एकता और अखंडता बरकरार रह सकें ।

वही शांडिल्य ने पंजाब के मुख्यमंत्री से सवाल किया कि खालिस्तानी आतंकियों के खिलाफ बोलने पर हिन्दू नेताओ पर धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले दर्ज कर सरकार खालिस्तानियों के मंसूबे को हवा क्यो देती है । उन्होंने कहा सरकार अगर खुद ही खालिस्तान समर्थकों की गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दें तो पंजाब के हिन्दुओं को बयानबाजी का मौका नही मिलेगा । उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से पंजाब के तमाम हिन्दू नेताओं में धार्मिक भावनाएं भड़काने के दर्ज मामलों को रद्द करने की मांग की ।

About admin

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share