Sunday , September 27 2020
Breaking News
Home / देश / पंजाब पुलिस द्वारा धान के बीज घुटाले का पर्दाफाश, लुधियाना से निजी फर्म का मालिक काबू, स्टोर सील

पंजाब पुलिस द्वारा धान के बीज घुटाले का पर्दाफाश, लुधियाना से निजी फर्म का मालिक काबू, स्टोर सील

चंडीगढ़ (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) :  पंजाब पुलिस ने लुधियाना से एक निजी बीज फर्म के मालिक की गिरफ्तारी से पंजाब में धान के बीज घुटाले का पर्दाफाश किया है जोकि धान की कुछ नयी विकसित किस्मों के रूप में उन किस्मों के बीजों को भारी कीमतों पर किसानों को जाली बीज बेचता था जिसकी अभी तक केंद्रीय बीज सूचीकरन कमेटी की तरफ से व्यापारिक मार्किटिंग के लिए मंजूरी भी नहीं हुई थी।

इस संबंधी डीजीपी दिनकर गुप्ता ने खुलासा किया है कि लुधियाना स्थित एक निजी फर्म ‘बराड़ बीज स्टोर के तौर पर पहचान हुई है, जिसकी मालकी हरविन्दर सिंह उर्फ बच्चा बराड़ की है, जिस को लुधियाना पुलिस की विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने गिरफ्तार कर लिया है। पी.ए.यू. गेट नंबर 1, लुधियाना के बिल्कुल सामने चलते बराड़ बीज स्टोर के लायसेंस को रद्द कर दिया गया है और उसकी दुकान को सील कर दिया गया है।

डी.जी.पी. ने बताया कि इस केस में एफआईआर नं. 116 तारीख़ 11.05.2020 अधीन धारा 2, 3, 7 ज़रूरी वस्तुएँ कानून और बीज कंट्रोल एक्ट की धारा 3 अधीन पहले ही एक केस थाना डिवीजऩ नंबर 5, लुधियाना में दर्ज किया गया था। इस केस में हरदयाल सिंह के पुत्र, 56 साला काका बराड़ से पूछताछ की जा रही है और जांच के उपरांत इस मामले में और गिरफ्तारियां होने की उम्मीद की जा रही है। मुख्य कृषि अफ़सर लुधियाना नरिन्दर सिंह बैनीपाल ने बराड़ के बीज स्टोर की पहले चैकिंग की और उसकी तरफ से गलत बीज बेचने के प्रति कार्यवाही करने का शक पाया गया।

यह जानकारी देते हुये लुधियाना के पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल ने बताया कि एसआईटी इस मामले की जांच के लिए डिप्टी कमिश्नर पुलिस, लुधियाना के रंैक के एक सीनियर अधिकारी के अधीन बनाई गई है। मुख्य कृषि अफ़सर को टीम में तकनीकी माहिर के तौर पर शामिल किया गया है।

एस.आई.टी. के द्वारा मारे गए व्यापक छापों के दौरान बराड़ बीज स्टोर में से बीजों का विशाल भंडार ज़ब्त किया गया है और नमूने विश्लेषण के लिए कृषि विभाग की लैबॉरटरी को भेजे गए। अग्रवाल ने कहा कि विश्लेषण से कुछ बीज जाली पाये गए बताए जा रहे हैं।

प्राथमिक पड़ताल दिखाती है कि बराड़ पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी (पी.ए.यू.) द्वारा विकसित की गई धान की नयी किस्मों के नाम (पी.आर. 128 और पी.आर. 129) का प्रयोग करके जाली बीज बेच कर किसानों के साथ धोखा कर रहा था। संयोगवध पीएयू ने अभी व्यापारिक तौर पर उन बीजों का उत्पादन करना है और अभी तक किसी भी निजी कंपनी को सप्लाई नहीं किये थे।

जाली बीजों की बरामदगी और ज़ब्त होने के बाद जि़ला प्रशासन ने पुलिस और कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ मिल कर लुधियाना में बीज बेचने वाली दुकानों की व्यापक चैकिंग की और बेचे जा रहे बीजों के नमूने भी लिए। यह नमूने लैबारटरी जांच के लिए भेजे गए हैं।

जि़ला पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 9115601160, 9115601161 भी जारी किये हैं, जिससे बीज बेचने वाली दुकानों द्वारा अधिक वसूली करने और बीजों और खाद की गुणवता संबंधी किसी शक की शिकायत की जा सके।

About admin

Check Also

देश के सभी पाठ्यक्रमों में श्रीमद्भगवद गीता एवं श्री रामायण शामिल किये जाने के आदेश पर उ.प्र. सरकार ने शुरूआत की

छिन्दवाड़ा(भगवानदीन साहू):- सामाजिक कार्यकर्ता भगवानदीन साहू के नेतृत्व में अन्य धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share