Breaking News
Home / पंजाब / पंजाब सरकार ने ऑनलाइन प्रशिक्षण के ज़रिये 22000 सरकारी कर्मचारियों को कोरोना वॉरियरज़ के तौर पर किया तैयार

पंजाब सरकार ने ऑनलाइन प्रशिक्षण के ज़रिये 22000 सरकारी कर्मचारियों को कोरोना वॉरियरज़ के तौर पर किया तैयार

* कोविड-19 के विरुद्ध जंग से निपटने के लिए कर्मचारियों को विभिन्न भूमिकाओं के लिए प्रशिक्षण देकर किया जा रहा लैस
* आईगौट पोर्टल पर वीडियोज़ और अन्य सहायक सामग्री के द्वारा प्रशिक्षण हासिल करने वाले कर्मचारियों को दिया जा रहा है ऑनलाइन सर्टिफिकेट
* कोर्स सम्बन्धी पंजाब सरकार ने अपेक्षित जानकारी सभी विभाग के प्रमुखों, डिप्टी कमिश्नरों और एम.डीज़ के साथ की साझा
चंडीगढ़ (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : कोरोनावायरस के अभूतपूर्व संकट के चलते पंजाब सरकार इस महामारी के खि़लाफ़ लड़ाई के अगले चरण के लिए आगे बढ़ते हुए राज्य भर के करीब 22000 कर्मचारियों को ऑनलाइन प्रशिक्षण के ज़रिये कोरोना वॉरियरज़ के तौर पर तैयार किया है। कोविड-19 महामारी के साथ और प्रभावशाली ढंग से लडऩे के लिए आईगौट पोर्टल पर विभिन्न भूमिका सम्बन्धी प्रशिक्षण की सामग्री तैयार की है, जिससे कोरोना वॉरियरज़ की फ़ौज तैयार करने का रास्ता साफ होगा।
पंजाब सरकार के परसोनल विभाग के प्रवक्ता ने इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए कहा कि कोर्स के विवरण और ऑनलाइन प्रशिक्षण सामग्री तक पहुँच करने सम्बन्धी उचित हिदायतें राज्य के समूह विभागों के प्रमुखों, डिप्टी कमिश्नरों और बोर्डों और कोर्पोरेशनों के एम.डीज़ को भेजी गई हैं। राज्य सरकार के सभी कर्मचारियों को केंद्रीय परसोनल मंत्रालय की पहलकदमी https://igot.gov.in/igot/ पर प्रशिक्षण लेने और आई.एच.आर.एम.एस. पर प्रशिक्षण मुकम्मल करने सम्बन्धी दस्तावेज़ / सर्टिफिकेट पोर्टल पर अपलोड करने के लिए निर्देश भी दिए गए हैं। यह पहलकदमी राज्य सरकारोंं के कर्मचारियों द्वारा पूरे प्रशिक्षण के कोर्स संबंधी जानकारी प्राप्त करने में सहायता करेगी, जिसे ज़रूरत पडऩे पर ऐसे प्रशिक्षण प्राप्त वॉरियरज़ को सरकार द्वारा कोविड -19 सम्बन्धी कंटेनमैंट ज़ोन में तैनात किया जा सके।
प्रवक्ता ने आगे कहा कि कोरोना महामारी का कहर भारत समेत पूरी दुनिया में जारी है। कोरोना के मुकाबले के लिए अगली कतार में डटे स्वास्थ्यकर्मियों को इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए बेमिसाल संघर्ष कर रहे हैं। जैसे-जैसे यह लड़ाई आगे बढ़ती जा रही है, इस महामारी का मुकाबला करने के लिए और ज्य़ादा मानवीय स्रोतों की ज़रूरत होगी। नये क्षेत्रों में तैनाती के उद्देश्यों के अलावा अगली कतार में काम कर रहे फ्रंटलाईन कर्मचारियों को थकावट के मद्देनजऱ विकल्प के तौर पर यह वॉरियरज़ काम करेंगे।
यह कोर्स विभिन्न विभागों के लिए उचित हैं, जो कोविड के विरुद्ध लड़ाई के ख़ास पहलूओं को ध्यान में रख कर तैयार किए गए हैं। कोर्स की सामग्री अभ्यास के लिए वीडियो, पी.डी.एफ. और प्रश्न सैटों का मिश्रण है। ऑनलाइन प्रशिक्षण हासिल करने के बाद कर्मचारियों को इसी पोर्टल पर अपनी आई.डी. की प्रोफाइल पर 48 घंटों के अंदर ऑनलाइन सर्टिफिकेट भी मिल जाता है। प्रवक्ता ने आगे बताया कि आईगौट भारत सरकार के परसोनल, शिकायत निवारण और पैंशन मंत्रालय द्वारा तैयार किया गया है, जिसका पूरा नाम एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण (आई.जी.ओ.टी.) है। इस प्रोग्राम में शामिल कोर्स सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों, सिविल डिफेंस अमले, पुलिस संगठनों, एन.सी.सी., नहरू युवा केंद्र संगठन, एन.एस.एस., इंडियन रेड क्रास सोसाइटी, भारत स्काउट्स और गाईडज़ और अन्य वॉलंटियरों की भूमिका सम्बन्धी प्रशिक्षण देने के लिए तैयार किए गए हैं।

About admin

Check Also

कांग्रसी सरपंच ने अपने गुंडों से करवाया PTC News Channel के पत्रकार हुसन लाल पर जानलेवा हमला

गांव भटनुरा में खबर करने पहुँचे पत्रकार को किया अगवा, बुरी तरह से पीटा जालन्धर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share