Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / पंजाब / कोविड-19 मरीज़ों की 78 प्रतिशत रिकवरी दर के साथ पंजाब बना देश का अग्रणी राज्य-बलबीर सिंह सिद्धू

कोविड-19 मरीज़ों की 78 प्रतिशत रिकवरी दर के साथ पंजाब बना देश का अग्रणी राज्य-बलबीर सिंह सिद्धू

* कोविड-19 के मरीज़ों की मृत्यु दर 1.8 फीसदी, जो राष्ट्रीय दर की अपेक्षा काफी कम
* कोई रैड / ऑरेंज / ग्रीन ज़ोन नहीं सिफऱ् कंटेनमैंट ज़ोन
चंडीगढ़ (शिव नारायण जांगड़ा) : राज्य सरकार द्वारा किए गए अथक यत्नों के स्वरूप कोविड-19 के मरीज़ों की 78 प्रतिशत रिकवरी दर के साथ कोरोनावायरस के विरुद्ध जंग में पंजाब देश का अग्रणी राज्य बन गया है।
यहाँ जारी एक प्रैस बयान में इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार कोरोनावायरस महामारी के मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार है, जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा अप्रैल, 2020 में 1,57,13,789 व्यक्तियों की जांच की गई। इनमें से 9,593 व्यक्तियों में कोरोनावायरस के लक्षण पाए गए थे, जिनको आगे प्रबंधन और नमूने लेने के लिए रैफर किया गया। उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक कोविड-19 के 1980 मामलों की पुष्टि की गई है और 52,955 व्यक्तियों की जांच की गई है, जिनमें से 48,813 व्यक्तियों की रिपोर्ट नैगेटिव आई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के 1980 मरीज़ों में से 1557 मरीज़ ठीक हो गए हैं, जो देश में मरीज़ों के ठीक होने की सबसे अधिक रिकवरी दर में से है।
स. बलबीर सिंह सिद्धू ने आगे कहा कि राज्य भर में ‘रिस्क स्ट्रैटीफाईड रैंडम सैंपलिंग’ करने की ज़रूरत है (यात्री, फ्रंट लाईन वर्कर, अन्य बीमारियों से पीडि़त लोग और घनी आबादी वाले इलाकों में रहने वाले लोग) और कोरोनावायरस के आगे फैलाव को रोकने के लिए उच्च जोखि़म वाले क्षेत्रों और व्यक्तियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इस सम्बन्धी सिविल सर्जनों को हिदायतें जारी की गई हैं।
कंटेनमैंट ज़ोन के तथ्यों संबंधी बताते हुए, उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सिफऱ् कंटेनमैंट ज़ोन की परिभाषा दी है और अब कोई रैड / ऑरेंज / ग्रीन ज़ोन नहीं है। कंटेनमैंट ज़ोन एक गाँव / वॉर्ड में 15 या इससे अधिक मामलों वाले क्षेत्र हैं। इसके साथ लगते गाँवों / वॉर्ड का एक छोटा समूह भी हो सकता है। फिर यहाँ एक बफ्फर ज़ोन होना चाहिए, जो कंटेनमैंट ज़ोन के आसपास एक केंद्रित क्षेत्र होगा और बफ्फर ज़ोन का दायरा 1 किलोमीटर तक का हो सकता है। उन्होंने कहा कि कंटेनमैंट अवधी कम से कम 14 दिनों की होगी। अगर पिछले हफ्ते में कोई नया मामला नहीं आया या एक नया मामला है तो उक्त क्षेत्र को खोल दिया जाएगा, नहीं तो एक समय के लिए कंटेनमैंट की समय सीमा एक हफ्ते तक के लिए बढ़ा दी जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नांदेड़ साहिब से लौटे 4218 व्यक्तियों में से 1252 व्यक्ति कोविड-19 पॉजि़टिव पाए गए थे। उन सभी को स्वस्थ घोषित करके घर भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि पंजाब में ज़्यादातर मामले बाहर के हैं।

About admin

Check Also

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री आशु द्वारा पंजाब में धान की सरकारी खऱीद की शुरूआत

     *     कैप्टन सरकार किसानों के साथ खड़ी-भारत भूषण आशु      *  …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share