Wednesday , September 30 2020
Breaking News
Home / Breaking News / पंजाबियों को वापस लाने के लिए विशेष उड़ानों की व्यवस्था करने के लिए संबंधित दूतावासों के साथ समन्वय बनाया जाएगा

पंजाबियों को वापस लाने के लिए विशेष उड़ानों की व्यवस्था करने के लिए संबंधित दूतावासों के साथ समन्वय बनाया जाएगा

   *  विदेशों से आने वाले ज़रूरतमन्द पंजाबियों के लिए ठहरने का प्रबंध पंजाब सरकार कर रही है-राणा सोढी
   *  समन्वयकों को विदेशों में पढऩे गए विद्यार्थियों की फ़ीसों की सेटलमेंट के लिए सम्बन्धित सरकारों के पास पहुँच करने के लिए कहा
   *  समन्वयकों ने राज्य सरकार के प्रयासों के लिए राणा सोढी का धन्यवाद किया
  चंडीगढ़ (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : प्रवासी भारतीय मामलों संबंधी मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने शनिवार को दुनिया के विभिन्न मुल्कों में नियुक्त किए गए समन्वयकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये मीटिंग करके कोविड -19 संकट के कारण विदेशों में फंसे पंजाबियों को वापस देश लाने और पंजाब आए प्रवासी भारतीयों को अपने-अपने मुल्कों में भेजने के लिए किए जा रहे प्रबंधों की समीक्षा की। समन्वयकों ने पंजाब सरकार द्वारा विदेशियों और प्रवासियों की इस मुश्किल घड़ी में की जा रही मदद के लिए राणा सोढी का धन्यवाद भी किया।
मीटिंग के दौरान राणा सोढी ने बताया कि विदेशों में फंसे पंजाबियों को वापस लाने के लिए राज्य सरकार की कोशिशें जारी हैं और लगातार पंजाबी वतन लौट रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार इन पंजाबियों की वापसी पर सम्बन्धित शहर में ही हवाई अड्डे से बाहर आने पर 14 दिनों के लिए एकांतवास पर भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सब होटलों में ठहर रहे हैं और जो ज़रूरतमन्द लोग होटलों का खर्चा नहीं उठा सकते, उनके लिए राज्य सरकार द्वारा होस्टल और विभिन्न संस्थाओं में ठहरने का प्रबंध किया जा रहा है, जहाँ सिफऱ् थोड़ी सी रकम खाने की वसूली जा रही है।
समन्वयकों द्वारा मिले सुझाव पर राणा सोढी ने कहा कि वह ज़रूरतमंदों के लिए ठहरने के प्रबंध मुफ़्त करने के लिए मुख्यमंत्री जी के साथ बात करेंगे और मीटिंग में उन्होंने विभाग के सचिव श्री राहुल भंडारी को कहा कि वह ऐसे व्यक्तियों के ठहरने के लिए सरकारी गेस्ट हाऊस आदि में प्रबंध देखें। इसी तरह दुनिया के कई शहरों में थोड़ी संख्या में फंसे कुछ भारतीयों के लिए विशेष उड़ानों का प्रबंध करने के लिए विभाग के अधिकारियों को सम्बन्धित देशों के दूतावासों से तालमेल स्थापित करने के लिए कहा, जिससे वहां फंसे पंजाबियों को वापस लाया जाए। समन्वयकों ने बताया कि यात्रियों की संख्या सामथ्र्य की अपेक्षा अधिक होने की सूरत में वह जरूरतमंद, बुज़ुर्ग, महिलाओं, बच्चे और मरीज़ व्यक्तियों को पहल दे रहे हैं।
राणा सोढी ने समन्वयकों को यह भी कहा कि जो विदेशों में पढऩे गए विद्यार्थी एडवांस फ़ीसें जमा करवा चुके हैं परन्तु अब उनको लॉकडाउन के चलते मजबूरीवश वापस आना पड़ रहा है, उनकी जमा करवाई गई फ़ीसों की भविष्य में सेटलमेंट करने के लिए सम्बन्धित सरकारों के पास पहुँच बनाई जाए। मीटिंग में भारत में फंसे प्रवासी भारतीयों का मुद्दा भी विचारा गया, जिनमें से कुछ को वापस अपने-अपने मुल्क जाने के लिए कुछ दिक्कतें आ रही हैं। राणा सोढी ने बताया कि सभी जि़लों के डिप्टी कमिश्नरों को हिदायतें दी जा रही हैं कि वह एन.आर.आईज़ की मदद के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करें, जो उनकी हर कठिनाई को दूर करने में मदद करेंगे। विभाग के सचिव ने बताया कि एक बार टिकट करवाने के बाद उनके हवाई अड्डे तक जाने के लिए पास आदि का प्रबंध सम्बन्धित जि़ला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है।

About admin

Check Also

कोरोनाकाल में अब स्कूल बच्चों के लिए एक सपना

देश। पूरे भारत में कोरोना काल में ऐसी स्थिति बन गई ।कि लोगों को बचाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share