Breaking News
Home / Breaking News / मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन: नरेंद्र मोदी ने किया 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान

मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन: नरेंद्र मोदी ने किया 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को किया संबोधित
  • पीएम मोदी ने किया 20 लाख करोड़ के पैकेज का ऐलान
  • नए नियमों के साथ 17 मई के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन

नई दिल्ली (रफतार न्यूज ब्यूरो): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दो महीने में चैथी बार देश को संबोधित किया है। कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी ने पहली बार 18 मार्च को देश को संबोधित किया था। उस संबोधन में उन्होंने लोगों से 22 मार्च को सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करते हुए घरों से नहीं निकलने की अपील की थी। फिर, 24 मार्च को दूसरे संबोधन में पीएम मोदी ने 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था। पीएम ने तीसरी बार 14 अप्रैल को देशवासियों को संबोधित किया था जिसमें उन्होंने लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया था। हालांकि, बाद में सरकार ने 3 मई की मियाद बढ़ाकर 17 मई कर दी और भारत लॉकडाउन के तीसरे चरण में प्रवेश कर गया। मंगलवार के राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान मोदी ने लॉकडाउन 4 का भी ऐलान कर दिया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चैथे चरण में नियम बदल जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 18 मई से पहले देश को नए नियमों जानकारी दे दी जाएगी। प्रधानमंत्री ने बताया कि 18 मई से पहले लॉकडाउन के चैथे चरण की जानकारी सांझा की जाएगी, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये लाक डाउन नए रंग-रूप-नियम वाला होगा।
देश में लागू लॉकडाउन 3 की अवधि 17 मई को खत्म हो रही है। मोदी ने कहा कि लॉकडाउन 4 नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा। जिसकी जानकारी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी।
मोदी ने कोरोना आपदा से निपटने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया, जो भारत की जीडीपी का 10 फीसदी है।
मोदी ने कहा किये आर्थिक पैकेज देश के उस श्रमिक के लिए है, देश के उस किसान के लिए है जो हर स्थिति, हर मौसम में देशवासियों के लिए दिन रात मेहनत कर रहा है। ये आर्थिक पैकेज हमारे देश के मध्यम वर्ग के लिए है, जो ईमानदारी से टैक्स देता है, देश के विकास में अपना योगदान देता है।
मोदी ने कहा कि कोरोना से हमें बचना है और आगे बढ़ना भी है। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ा आपदा भारत के लिए संदेश और अवसर लेकर आई है। उन्होंने कहा कि मैं एक उदाहरण के साथ बताना चाहता हूं कि जब कोरोना संकट शुरू हुआ तो भारत में एक भी पीपीई किट नहीं बनती थी न ही एन95 मास्क का उत्पादन होता था। लेकिन आज स्थिति ये है कि भारत में ही हर रोज 2 लाख पी पी ई किट और 2 लाख एन-95 मास्क बनाए जा रहे हैं। हम ऐसा इसलिए कर पा रहे हैं क्योंकि आपदा को हमने अवसर में बदल दिया है।
अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि यह संकट अभूतपूर्व है, लेकिन थकना, हारना, टूटना, बिखरना मानव को मंजूर नहीं है। सतर्क रहते हुए ऐसी जंग के सभी नियमों का पालन करते हुए हमें बचना भी है और आगे बढ़ना भी है। प्रधानमंत्री ने देश-दुनिया में कोविड-19 मरीजों की मौत पर दुःख जताया और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

About admin

Check Also

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हुई साप्ताहिक बैठक

गुरसराय, झाँसी(डॉ पुष्पेंद्र सिंह चौहान)-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई गुरसरांय की पहली साप्ताहिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
gtag('config', 'G-F32HR3JE00');