Breaking News








Home / दिल्ली / जरूरतमंदों को लंगर व पैक्ड खाने की सेवा को बहाल करे प्रशासन:- कांग्रेस

जरूरतमंदों को लंगर व पैक्ड खाने की सेवा को बहाल करे प्रशासन:- कांग्रेस

   चंडीगढ़ (नागपाल ) : कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने आज यूटी प्रशासक, श्री वीपी बदनोर जी को कर्फ्यू हटाने के बाद भी चंडीगढ़ निवासियों को आ रही आर्थिक और सामाजिक समस्याओं पर पत्र लिख कर अवगत कराया।  छाबड़ा ने कहा कि चंडीगढ़ में कर्फ्यू को हटाकर व लोक डाउन में ढील देने के बाद सभी वाहनों को सड़कों पर उतरने की अनुमति दी गई है लेकिन यह देखकर काफी आश्चर्य हुआ है कि मोटर मार्किट को अन्य बाजारों की तरह खोलने की अनुमति नहीं दी गई है।  समझने का विषय है कि लगभग 40 दिनों के बिना इस्तेमाल के बाद वाहनों को मरम्मत की आवश्यकता हो सकती है इसके अलावा, जब वाहन सड़कों पर चलेंगे तो उन्हें रिपेयर की आवश्यकता भी हो सकती है। इन बातों को ध्यान में रखते हुए यह जरूरी हो जाता है कि चंडीगढ़ व मनीमाजरा के मोटर मार्किटों को ओड-इवन आधार पर खोलने की अनुमति दी जाए जिसमे लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य मापदंडों की पालना के तहत ही हो। चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा ने यूटी प्रशासक को यह भी बताया कि मध्य मार्ग क्षेत्र और सेक्टर -17 प्लाजा के लगभग सभी शोरूम और थोक बाजार खोलने की अनुमति नहीं है। ये आर्थिक स्तिथि को मजबूत करने का एक प्रमुख स्रोत हैं और कई लोगों को रोजगार भी देते हैं।  छाबड़ा ने अपील की कि इन्हें भी अन्य बाजारों की तरह ही अन्य बाजारों में लागू मानदंडों के साथ खोलने की अनुमति दी जानी चाहिए।
आगे छाबड़ा ने कहा कि टैक्सी, ऑटो-रिक्शा और रिक्शा को चलाने की अनुमति नहीं है।  यदि निजी वाहनों को अनुमति दी जा सकती है, तो इन आवश्यक परिवहन सेवाओं को भी अनुमति दी जानी चाहिए, खासकर जब बस सेवा शुरू नहीं की गई हो।  पंजीकृत टैक्सी स्टैंड या यूनियनों के साथ पंजीकृत टैक्सियों को 1-2 यात्रियों के साथ काम करने की अनुमति दी जानी चाहिए।  छाबड़ा ने चंडीगढ़ नगर निगम द्वारा पंजीकृत स्ट्रीट वेंडर्स और अन्य विक्रेताओं के लिए आजीविका का मुद्दा भी उठाया और यूटी प्रशासक से अपील की कि लॉक डाउन की घोषणा के बाद से इन विक्रेताओं के पास आजीविका का कोई साधन नहीं है और वे सबसे ज्यादा आर्थिक रूप में प्रभावित हुए हैं। उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य मापदंडों को आगे रखते हुए काम शुरू करने की अनुमति दी जानी चाहिए।
छाबड़ा ने बताया कि कर्फ्यू हटाने के बाद चंडीगढ़ प्रशासन ने लंगर सेवा को बंद कर दिया है। उन्होंने कहा कि शहर में अब भी कई जरूरतमंद और प्रवासी लोग हैं, जिन्हें लंगर की सेवाओं की आवश्यकता है। उन्होंने यूटी प्रशासक श्री वीपी बदनोर से अपील की कि वे लंगर सेवा को फिर से शुरू करने का निर्देश दें, जो 60% से अधिक निवासियों को मदद करेगा जो अभी भी कठिनाई का सामना कर रहे हैं।  छाबड़ा ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यूटी प्रशासक इन मुद्दों पर अवश्य विचार करेंगे और प्रशासन को आवश्यक निर्देश देंगे।

About admin

Check Also

खालिस्तानी आतंकवादी गतिविधि : पंजाब पुलिस ने विदेशी पिस्तौलों की बड़ी खेप की ज़ब्त, एक कथित आतंकवादी और हथियारों का तस्कर किया गिरफ्तार

मुलजि़म के यूएसए-आधारित हैंडलर के लिए ओपन-एंडेड वॉरंट जारी, अंतरराष्ट्रीय संबंधों को पता लगाने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share