Breaking News






Home / Breaking News / नांदेड़ साहिब से लौटे श्रद्धालुओं के कोरोना संक्रमण का मामला : पंजाब सरकार और महाराष्ट्र के बीच तू तू – मैं मैं

नांदेड़ साहिब से लौटे श्रद्धालुओं के कोरोना संक्रमण का मामला : पंजाब सरकार और महाराष्ट्र के बीच तू तू – मैं मैं

* श्रद्धालुओं को लाने वाले पहले जत्थे के सभी 31 वाहन और उनके ड्राइवर महाराष्ट्र से सम्बन्धित-रजिया सुल्ताना
* तख्त श्री हजूर साहिब ट्रस्ट की तरफ से भेजी 7 बसों के पहले जत्थे ने पंजाब की यात्रा 23 अप्रैल को शुरू की
* पंजाब की बसों ने श्रद्धालुओं को नांदेड़ साहिब से पंजाब लाने का सफऱ 27 अप्रैल की रात से शुरू किया
* पंजाब सरकार ने नांदेड़ साहिब से लौटे श्रद्धालुओं को पंजाब के ड्राईवरों से कोरोना संक्रमण लगने के अशोक चव्हाण के दावे को किया खारिज
चंडीगढ़ (रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) : पंजाब सरकार ने आज महाराष्ट्र के लोक निर्माण विभाग के मंत्री श्री अशोक चव्हाण के उस बयान को पूरी तरह रद्द कर दिया है जिसमें उन्होंने दावा किया है कि नांदेड़ साहिब से लौटने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना संक्रमण शायद पंजाब के ड्राईवरों से हुआ है। एक प्रैस बयान में पंजाब के परिवहन मंत्री श्रीमती रजिया सुल्ताना ने श्री अशोक चव्हाण के बयान को भ्रामक और तथ्यों के बिना करार दिया।
श्रीमती रजिया सुल्ताना ने महाराष्ट्र के लोक निर्माण मंत्री के बयान को यह कह कर रद्द कर दिया कि संवैधानिक पद पर आसीन व्यक्ति को ग़ैर-जिम्मेदाराना व्यवहार नहीं करना चाहिए और तथ्यों की पुष्टी किये बिना कोई बयान नहीं देना चाहिए। श्रीमती सुल्ताना ने खुलासा किया कि वास्तव में 31 वाहनों (20 बसें और 11 टैंपो ट्रैवलर) का पहला जत्था, जोकि श्री नांदेड़ साहिब से 860 श्रद्धालुओं को पंजाब लेकर आया था, में शामिल सभी वाहन और ड्राईवर महाराष्ट्र के थे। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के पहले तीन ग्रुप निजी बसों के द्वारा आए थे जिनका प्रबंध श्री नांदेड़ साहिब से किया गया था।
उन्होंने बताया कि तख्त श्री हजूर साहिब ट्रस्ट की तरफ से भेजी गई 7 बसों के पहले जत्थे ने 23 अप्रैल की रात को पंजाब के लिए अपना सफऱ शुरू किया। उन्होंने बताया कि 11 टैम्पो ट्रैवलरज़ का दूसरा जत्था 24 अप्रैल देर रात को पंजाब के लिए चला और 26 अप्रैल की देर रात पंजाब पहुँचा। इसी तरह 13 बसों का तीसरा जत्था श्रद्धालुओं को लेकर 25 अप्रैल को देर रात और 26 अप्रैल की नयी सुबह श्री हजूर साहिब से पंजाब के लिए चला। यह बसें 27 अप्रैल को देर रात और 28 अप्रैल की नयी सुबह पंजाब पहुँची।
श्रीमती रजिया सुल्ताना ने बताया कि पंजाब सरकार की बसें 25 अप्रैल को पंजाब से श्री नांदेड़ साहिब के लिए रवाना हुई और 27 अप्रैल की सुबह वहां पहुँची। उन्होंने बताया कि इन बसों ने 27 अप्रैल की रात को वापस पंजाब के लिए अपनी यात्रा शुरू की और 29 अप्रैल के बाद दोपहर से 30 अप्रैल की सुबह तक बठिंडा पहुँची।
यह तथ्य की बात है कि पंजाब की बसों द्वारा श्रद्धालुओं को लाने से पहले ही कुछ प्राईवेट वाहन श्री नांदेड़ साहिब से पंजाब के लिए रवाना हो गए थे और इन निजी वाहनों में सवार यात्रियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिनमें एक नांदेड़ से सम्बन्धित ड्राईवर भी शामिल है।
जि़क्रयोग्य है कि महाराष्ट्र सरकार के लोक निर्माण मंत्री श्री अशोक चव्हाण ने कुछ मीडिया प्लेटफार्मज़ को दिये अपने इंटरव्यू में दावा किया था कि महाराष्ट्र के नांदेड़ में एक गुरूद्वारे से श्रद्धालुओं को बसों में पंजाब लेकर जाने वाले पंजाब के ड्राईवरों से श्रद्धालुओं में कोरोना संक्रमण फैलने से इन्कार नहीं किया जा सकता।

About admin

Check Also

नवजोत सिद्धू बने पंजाब कांग्रेस के नये प्रधान, 4 कार्यकारी प्रधान होंगे, रफतार न्यूज की ख़बर पर एक बार फिर से मोहर

दिल्ली, 18 जुलाई (रफतार न्यूज ब्यूरो)ः रफतार न्यूज की ख़बर पर एक बार फिर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share