Tuesday , September 29 2020
Breaking News
Home / Breaking News / दिल्ली पुलिस को इंट्री फीस ना दी तो किसान का लाठियों से हाथ तोड़ दिया

दिल्ली पुलिस को इंट्री फीस ना दी तो किसान का लाठियों से हाथ तोड़ दिया

नूंह । (देव श्योकंद )

नूंह जिले के किसान द्वारा दिल्ली पुलिस को इंट्री फीस न देने से गुस्साऐ पुलिसकर्मी ने लाठियों से किसान का हाथ तोड़ दिया। आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए घायल किसान ने इसकी शिकायत नूंह के डीसी पंकज को दी है।
नूंह खंड के गांव बडका अलीमुद्दीन निवासी मुस्तुफा ने बताया कि वह अपने खेतों में सब्जी उगाता है। 17 अप्रैल को दिल्ली की नसीरपुर मंडी में अपने टमाटर बेचने के लिए गया था। उसने डीसी नूंह कार्यालय से नूंह से दिल्ली तक लॉक डाउन पास बनवाकर वाहन पर चिपका रखा था। तथा वाहन में केवल दो आदमी थे एक वह दूसरा ड्राईवर था।पीडित मुस्तुफा ने बताया कि 17 अप्रैल की रात्री करीब 12 बजे वे दिल्ली मंडी में अपना टमाटर बेचकर वापिस गांव आ रहे थे। जब वे गुरूग्राम से पहले दिल्ली टूल पर पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिस कर्मी ने उसका टेंपू रूकवा लिया। वह कहने लगा कि तुमने जाते वक्त भी कोई इंट्री फीस नहीं दी अब दुगनी फीस दो। मुस्तुफा का कहना है कि वह पुलिस कर्मी को 200 रूपये देने लगा तो वह गुस्सा हो गया और बिना कुछ पूछे वहां मौजूद पुलिस कर्मी ने लाठी बरसानी शुरू कर दी। वह बेहोश हो गया। जिसके बाद पुलिस कर्मी उसे पास के ही तंबू में ले गऐ वहां पानी छिडका। कुछ देर बाद उसे होश आया तो उसे गाडी में बेठाकर भगा दिया।पीडित का कहना है कि थोडी आगे चलकर हरियाणा पुलिस थी उसने उनको सारी घटना की जानकरी दी और हाथ में दर्द हो रहा था उसके लिए कोई टेबलेट मांगी। लेकिन उन्होंने कहा तुम वहां से आऐ ही क्यों? वहीं कार्रवाई करवाते।पीडित का कहना है उसने समझा थोडी चोट लगी होगी। हाथ में थोड़ा दर्द हो रहा था, जिसके बाद वह सो गया। जब वह सुबह खडा हुआ तो उसके हाथ पा काफी सूजन थी। उसने डाक्टर को दिखाया तो ऐक्स-रे में हाथ टूटा हुआ मिला।पीडित का कहना है कि वह गरीब आदमी हैं। सब्जी बेचकर ही अपना पेट भरते हैं। उन्होने इसकी शिकायत डीसी नूंह को कर दी है।

About admin

Check Also

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री आशु द्वारा पंजाब में धान की सरकारी खऱीद की शुरूआत

     *     कैप्टन सरकार किसानों के साथ खड़ी-भारत भूषण आशु      *  …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share