Breaking News
Home / Breaking News / सीबीएसई ने पब्लिक स्कूलों में कक्षा छह से ही प्रोफेशनल कोर्स कराने का लिया फैसला

सीबीएसई ने पब्लिक स्कूलों में कक्षा छह से ही प्रोफेशनल कोर्स कराने का लिया फैसला

चंडीगढ़ ।

Dev Sheokand

 

सीबीएसई ने स्कूलों को एक सर्कुलर भेज कर आगामी सत्र से इन नए विषयों को अपने-अपने स्कूलों में शुरू करने के लिए 30 मई तक ऑनलाइन आवेदन करने को कहा है। स्कूल एक या उससे ज्यादा विषयों को चुन सकते हैं। कक्षा 6, 7 और 8 के छात्रों के लिए 12-12 घंटे के स्टडी मॉड्यूल तैयार किए गए हैं। जिसे छात्र कक्षा 6, 7 या 8 में अपने अन्य शैक्षिक विषयों के साथ पढ़ सकते हैं।कौशल विकास आधारित इन विषयों में जूनियर स्तर पर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, ब्यूटी एंड वेलनेस, डिजाइन थिंकिंग, फाइनेंशियल लिटरेसी, कमर्शियल एप्लीकेशन, मास मीडिया, ट्रेवल एंड टूरिज्म जैसे कोर्स शामिल हैं।इन विषयों का प्रैक्टिकल भाग 35 अंक और थ्योरी 15 अंकों की होगी। सीनियर सेकेंडरी स्तर पर इस प्रकार के 37 विषय और सेकेंडरी स्तर पर 17 विषयों को रखा गया है। अगर कक्षा 10 में कोई बच्चा किसी एक मुख्य विषय में असफल रहता है और इन विषयों में सफल रहता है तो इसके आधार पर उसका एक साल बचाया जा सकेगा।सीबीएसई की ओर से कौशल पाठ्यक्रमों को मुख्यधारा में लाने का फैसला अच्छा है। इससे विद्यार्थी न सिर्फ कौशल सक्षम होंगे बल्कि उनमें सैद्धांतिक ज्ञान, दृष्टिकोण और सॉफ्ट स्किल्स का भी विकास होगा, जो एक व्यापक आधारित शिक्षा के माध्यम से विशेष व्यवसाय के लिए आवश्यक है  । व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को शिक्षा कक्षा छह से मिलने से बच्चों में जल्दी ही कौशल विकास होगा और उन्हें अपना करियर चुनने में मदद मिलेगी। कौशल विकास आधारित शिक्षा से सबसे बड़ा यह लाभ होगा कि छात्र सरकारी नौकरियों की ओर दौड़ लगाने के बजाय स्वरोजगार अपना सकेंगे- तिलकराज तलवार, प्रबंधक बियरशिवा स्कूल।

About admin

Check Also

एंड टू एंड कम्प्यूट्रीकरण के द्वारा खाद्य सामग्री वितरण के दौरान नहीं हुई एक भी दाने की हेराफेरी-आशु

   सुखबीर बादल द्वारा की गई सी.बी.आई. जांच की माँग बेतुकी करार केंद्र सरकार द्वारा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share