Breaking News








Home / Breaking News / कोरोना से ठीक होकर घर पहुंची महिला हो रही सामाजिक प्रैशर का शिकार , मिल रही धमकियां

कोरोना से ठीक होकर घर पहुंची महिला हो रही सामाजिक प्रैशर का शिकार , मिल रही धमकियां

रोहतक ।

हरियाणा के पीजीआईएमएस रोहतक से इलाज करवाने के बाद ठीक होकर घर लौटी महिला को मकान खाली करने की धमकियां मिल रही है। उन्हें आस पड़ोस के लोग परेशान कर रहे है। मंजू ने सीएम मनोहर लाल से ऑनलाइन बातचीत करते हुए अपनी परेशानी बताई। हरियाणा के सीएम रविवार को कार्यक्रम के तहत कोरोना वीरों से उनके संक्रमित होने से लेकर ठीक होकर घर पहुंचने तक के संघर्ष की दास्तां सुन रहे थे।मंजू ने बताया कि उनका 23 मार्च को कोरोना का पॉजिटिव टेस्ट आया था। 10 दिन अस्पताल में रहकर वह ठीक होकर घर लौटी है। उन्होंने बताया कि एक बार तो उनके मन घबराहट पैदा हुई पर डॉक्टरों के व्यवहार से उन्हें हौसला मिला और अब वे इससे उबरकर बाहर आ गई है। गांव वाले मकान खाली करने की धमकी दे रहे है। उन्हें परेशान किया जा रहा है। सीएम ने उन्हें आश्वस्त किया कि धमकी देने वालों पर कार्रवाई होगी। डीसी को तुरंत कार्रवाई के निर्देश दे दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने पांच कोरोना वीरों से बात की और उनको इस जीत के लिए बधाई व शुभकामनाएं दी।सीएम मनोहर लाल ने कहा है कि प्रदेश के लोगों से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हौसला रखना होगा। सरकार ने इस लड़ाई से लड़ने के लिए सभी प्रकार के आवश्यक प्रबंध किए है। इनके फलस्वरूप ही कोरोना संक्रमितों में से लगभग तीन दर्जन अस्पतालों में इलाज करवाकर ठीक होने के बाद अपने घरों गए है। वे इस लड़ाई को जीतने वाले वास्तविक सैनिक हैं। कोरोना की लड़ाई में हमें न डरना है, न हारना है, बल्कि कोरोना को हराना है और जीतना है। इस प्रकार हम कोरोना को हरियाणा से हराएंगे और भारत से भगाएंगे।सीएम ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान अपने घरों में एकांतवास में जीवन व्यतीत कर रहे लोगों को इस समय का सदुपयोग करना चाहिए। खुद में नई ऊर्जा का संचार करे थे। इस दौरान शराब छोड़ी व परिवार के किसी सदस्य से छुड़वाई भी जा सकती है।

About admin

Check Also

हरियाणा: चार माह से लापता किसान बिजेंद्र को लेकर प्रदर्शन, जींद-चंडीगढ़ मार्ग बंद करने की चेतावनी

(रफतार न्यूज ब्यूरो)ः किसान आंदोलन में भाग लेने 26 जनवरी को दिल्ली गया कंडेला गांव …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share