Thursday , January 28 2021
Breaking News
Home / Breaking News / आबकारी नीति को लेकर विपक्ष कर रहा भ्रामक प्रचार – अनूप धानक

आबकारी नीति को लेकर विपक्ष कर रहा भ्रामक प्रचार – अनूप धानक

पुरातत्व-संग्रहालय एवं श्रम-रोजगार राज्यमंत्री अनूप धानक ने कहा कि प्रदेश की आबकारी नीति को लेकर विपक्षी दल जनता को गुमराह करने के लिए भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। गठबंधन सरकार ने आबकारी नीति में शराब के स्टॉक लाइसेंस परमिट आदि को लेकर कोई बढ़ोतरी नहीं की है बल्कि अवैध शराब की बिक्री पर पाबंदी लगाने के लिए कठोर कदम उठाने के प्रयास किए गए हैं।

 

राज्यमंत्री अनूप धानक ने यह बात आज उकलाना हलका में विभिन्न विकास परियोजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास अवसर पर ग्रामीण जनसभाओं को संबोधित करते हुए कही। इस दौरान उन्होंने नया गांव में दीवान धायल की ढाणी में 19 लाख रुपए की लागत से बनी गली का उद्घाटन किया। इसके अलावा उन्होंने नया गांव में 9 लाख रुपए की लागत से बने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर पार्क तथा साढ़े चार लाख रुपए की लागत से बनी धानक चौपाल व 11 लाख रुपए की लागत से बनी गली का उद्घाटन किया।

 

अनूप धानक ने कहा कि भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार का पहला बजट सब वर्गों के लिए हितकारी बजट है। इस बजट में सभी वर्गों को कुछ न कुछ नया देने का प्रयास किया गया है। हर वर्ग के लोगों को इस बजट से फायदा होगा। गरीब किसान मजदूर के हितों के लिए विशेष तौर पर कदम उठाने के प्रयास इस आम बजट के माध्यम से किए गए हैं।

 

राज्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की आबकारी नीति को लेकर विपक्षी दल जनता को भ्रमित करने के लिए दुष्प्रचार कर रहे हैं उन्होंने कहा कि आबकारी नीति के तहत शराब के परमिट की बात को लेकर जो दुष्प्रचार विपक्ष द्वारा किया जा रहा है वह नीति कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में 2007-08 में ही लागू की गई थी लेकिन जनता को भ्रमित करने के लिए कांग्रेस पार्टी द्वारा इसका अलग तरीके से प्रचार किया जा रहा है। गठबंधन सरकार ने आबकारी नीति में शराब के स्टॉक व लाइसेंस परमिट आदि को लेकर किसी प्रकार की बढ़ोतरी नहीं की गई है बल्कि अवैध शराब की बिक्री पर पाबंदी लगाने के लिए कठोर कदम उठाने के प्रयास किए गए हैं।

About admin

Check Also

PUNJAB TABLEAU SHOWCASING SRI GURU TEGH BAHADUR JI’S SUPREME SACRIFICE EVOKES MASSIVE RESPONSE

Chandigarh (Raftaar News Bureau) Punjab Tableau depicting unparalleled and supreme sacrifice of Ninth Sikh Guru …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share