Home / Breaking News / झज्जर के एम्स के नजदीक बनेगा हेलीपैड, मुख्यमंत्री ने भूमि की पहचान के दिये निर्देश

झज्जर के एम्स के नजदीक बनेगा हेलीपैड, मुख्यमंत्री ने भूमि की पहचान के दिये निर्देश

अनाथ बच्चों में गौरव की भावना जागृत करने के लिए जहाँ भी हिंदी में ‘अनाथ आश्रम’ लिखा गया है उसका नाम बदलकर जगन्नाथ आश्रम किया जाना चाहिए। ये कहना है हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का। अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों के लिए जिला जींद, रोहतक, फतेहाबाद, करनाल और हिसार में छात्रावास के निर्माण की घोषणा की समीक्षा करते हुए उन्होंने निर्देश दिये कि ऐसे विद्यार्थियों के लिए इन छात्रावासों के निर्माण तक कॉलेजों या विश्वविद्यालयों में वैकल्पिक व्यवस्था की जानी चाहिए।

 

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा विभाग को हेलीपैड के निर्माण के लिए जिला झज्जर के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में या इसके बाहर एक एकड़ भूमि की पहचान करने के निर्देश दिए ताकि मरीजों और उनके रिश्तेदारों को सुविधा हो सके। बैठक में बताया गया कि रोहनात फ्रीडम ट्रस्ट का पंजीकरण हो चुका है और गांव रोहनात के 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को उपचार प्रदान करने के लिए एक करोड़ रुपये की शुरुआती धनराशि जल्द ही ट्रस्ट को हस्तांतरित कर दी जाएगी।

 

बैठक में बताया गया कि गांव बहोली, थानेसर, जिला कुरुक्षेत्र में एक पशु पॉली-क्लीनिक खोला जाएगा। इसके अतिरिक्त, लाला लाज पतराय पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय केन्द्र के रूप में जिला झज्जर के लाकरिआ में एक बुल सेंटर भी खोला जाएगा। इसके अलावा, इस उद्देश्य के लिए विश्वविद्यालय को लाकरिआ फार्म की भूमि हस्तांतरित करने के अलावा 42,75,000 रुपये की राशि भी जारी की गई है।

About admin

Check Also

PM Narendra Modi आज करेंगे बैठक, Vaccine निर्माताओं के साथ होगी बातचीत

(रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) –देश में कोरोना रिटर्न की बेकाबू रफ्तार जारी है. 1 दिन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share