Wednesday , April 21 2021
Breaking News








Home / Breaking News / हरियाणा प्रदेश का मासिक लिंगानुपात 933 तक पहुंचा- मुख्यमंत्री

हरियाणा प्रदेश का मासिक लिंगानुपात 933 तक पहुंचा- मुख्यमंत्री

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने बताया कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान की वजह से सन 2014 से लेकर अब तक लगभग 40 हजार बेटियां सुरक्षित समाज में आई हैं।ये वो बेटियां है जिन्हें मां के गर्भ में मरने से बचाया  गया। मुख्यमंत्री बुधवार को गुरुग्राम में अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि  हरियाणा प्रदेश का लिंगानुपात 2014 में 871 का था और अब मासिक लिंगानुपात 933 तक पहुंच गया है।
 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को बताया कि प्रदेश का लिंगानुपात 2014 में 871 का था और अब मासिक लिंगानुपात 933 तक पहुंच गया है। इसी का परिणाम है कि 2014 से लेकर अब तक लगभग 40 हजार बेटियां सुरक्षित समाज में आई हैं।उन्होंने कहा कि  यह सुधार समाजसेवी संगठनों, प्रदेशवासियों और सरकार के सामुहिक प्रयासों से हुआ है। उन्होंने कहा कि हमने सामाजिक समस्याओं पर ध्यान दिया। महिलाओं , सैनिकों , युवाओं , खिलाड़ियों , समाज के कमजोर वर्गों, दलितों , किसानों आदि सभी के कल्याण के लिए कानून बनाया और योजनाएं बनाकर लागू की।
 
मनोहर लाल ने कार्यकर्ताओं को एकता के सूत्र में पिरोने का मंत्र देते हुए कहा कि जब भी कोई पूछे तो सबसे पहले बताएं कि ‘मै हरियाणवी हूं, उसके बाद ही अपना व्यवसाय जैसे व्यापारी, शिक्षक, विद्यार्थी आदि होने का उल्लेख करें और सबसे बाद में जाति आए‘।हरियाणा को हम देश के सब प्रदेशों में आगे निकालें, यह हमारी आकांक्षा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य समाज और देश की सेवा करना है। समाज में जो अभी भी पिछड़े हैं, उनको मुख्यधारा में लाना है।
 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव के रूप में हमारी एक परीक्षा हुई है जिसमें हम डिस्टिंक्शन से पास हुए हैं और  विधानसभा चुनाव के लिए हमने मिशन 75 प्लस का लक्ष्य रखा है, इसके बाद कार्यकर्ता कहीं तक पहुंचे, यह उनकी मर्जी है। 

About admin

Check Also

कोरोना का खौफ: आईसीएसई ने रद्द कीं 10वीं बोर्ड परीक्षाएं, 12वीं की परीक्षाओं के संबंध में दिया यह निर्देश

(रफ़्तार न्यूज़ ब्यूरो) –देश में कोरोना संक्रमण के मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए आईसीएसई काउंसिल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share