Tuesday , September 22 2020
Breaking News
Home / Breaking News / अग्निशमन सुरक्षा को लेकर होगा निरीक्षण, पंचकूला में मास्टर फायर कंट्रोल रूम होगा स्थापित

अग्निशमन सुरक्षा को लेकर होगा निरीक्षण, पंचकूला में मास्टर फायर कंट्रोल रूम होगा स्थापित

हरियाणा में अग्निशमन सुरक्षा के दृष्टिगत सभी स्कूलों कॉलेजों, अस्पतालों, होटलों, ऑडिटोरियमों, कोचिंग सेंटरों, सिनेमाघरों, हास्टलों तथा बहुमंजिला ईमारतों में एक माह के अन्दर निरीक्षण करवाया जायेगा। इसके अलावा निदेशालय अग्निशमन सेवा, हरियाणा, पंचकूला में मास्टर फायर कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किया जाएगा। यह जानकारी आज यहां हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने अग्निशमन सुरक्षा के संबंध में ली गई बैठक के बाद दी।

 

कविता जैन ने कहा कि स्कूलों कॉलेजों, अस्पतालों, होटलों, ऑडिटोरियमों, कोचिंग सैंटरों, सिनेमाघरों, हॉस्टलों तथा बहुमंजिला ईमारतों में निरीक्षण तीन चरणों में किया जायेगा। पहले चरण में नगर निगमों में, दूसरे चरण में नगर परिषदों में तथा तीसरे चरण में नगर पालिकाओं में निरीक्षण करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेशा के सभी जिलों में निरीक्षण के लिए कमेटियां बनाई जाएंगी जिनमें संयुक्त आयुक्त, नगराधीश, सहायक मण्डल अग्निशमन/ दमकल केन्द्र अधिकारी शामिल होगें।

 

विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि दस दिन के अन्दर प्रदेश के सभी स्कूलों, कॉलेजों, अस्पतालों, होटलों, ऑडिटोरियमों, कोचिंग सैंटरों, सिनेमाघरों, हास्टलों तथा बहुमंजिला ईमारतों की सूची तैयार की जाए।  उन्होंने कहा कि प्रदेश मे चलने वाले सभी वैध एवं अवैध कोचिंग सेंटरों का निरीक्षण किया जायेंगा। उन्होने कहा कि प्रदेश के निदशालय अग्निशमन सेवा, हरियाणा, पंचकूला में मास्टर फायर कन्ट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। जहां से प्रदेश में कहीं भी आग लगने की स्थिति में जिले के अन्दर एवं बाहर से जल्द से जल्द सहायता प्रदान की जा सके । इस कार्य के लिए अग्निशमन सुरक्षा के लिए ऐप भी तैयार किया जाएगा।

 

आग लगने की स्थिति में  बचाव उपायों को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से डाक्यूमेंट्री भी तैयार करवाई जायेगी। इसके अलावा,शैक्षणिक संस्थानों में अग्नि सुरक्षा के उपायों के बारे में जानकारी विद्यार्थियों को दी जायेगी।

 

प्रदेश में 1048 फायर ऑपरेटर के पदों को भरने के लिये भेजा गया है मांग पत्र…

 

प्रदेश में 86 दमकल केंद्र कार्य कर रहे हैं, जिनमें 434 गाडियां दी गई हैं। इसके अलावा, 57 गाडियों में फ्रेबरिकेशन का कार्य चल रहा है और इन्हें जल्द ही दमकल केंद्रों में भेजा जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1408 फायरमैन कार्यरत हैं तथा 1048 फायर ऑपरेटर के पदों को भरने के लिए मांग पत्र हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को भेजा हुआ है।

 

कविता जैन ने बताया कि बहुमंजिला ईमारतों की अग्नि सुरक्षा के लिए प्रदेश में 2 हाईड्रोलिक प्लेटफार्म उपलब्ध है। इसके अलावा  32 मीटर उंचाई के 2 हाईड्रोलिक प्लेटफार्म, 55 मीटर उंचाई की दो टर्नटेबल लैडर, 70 मीटर उंचाई के दो हाईड्रोलिक प्लेटफार्म तथा 101 मीटर उंचाई का एक हाईड्रोलिक प्लेटफार्म के खरीद की प्रक्रिया चल रही है । उन्होने बताया कि प्रदेश में फायर फायटिंग स्कीम तथा अनापत्ति प्रमाण पत्र आनलाईन प्रदान किये जा रहे हैं। भवनो को अग्निशमन सुरक्षा की दृष्टिगत भवन प्लान स्कीम को राइट टु सर्विस एक्ट के दायरे में किया गया है जिसके फलस्वरूप संबंधित प्रार्थियों को कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने पडते।

 

मंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रति वर्ष 14 से 20 अप्रैल को अग्निशमन सेवा सप्ताह मनाया जाता है। इस वर्ष भी यह अग्निशमन सेवा सप्ताह मनाया गया तथा टी.वी. व रेडियों के माध्यम से लोगों का अग्नि से सुरक्षा के उपायो बारे अवगत करवाया गया है व सभी दमकल केन्द्रों में कार्यरत स्टाफ द्वारा जन-साधारण को मॉकड्रील करके अग्नि से सुरक्षा हेतु उपाय करने के लिये भी जानकारी दी गई। बैठक में शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण एवं महानिदशक समीर पाल सरो के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

About admin

Check Also

मुख्य सचिव द्वारा कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधों के लिए जिला अधिकारियों को कोशिशें और तेज़ करने की हिदायतें

    *   मृत्युदर घटाने के लिए कोरोना इलाज की सहूलतों में और सुधार करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share