Breaking News






Home / Breaking News / गुरूग्राम में नई मेट्रो रेल लाइन के अलावा ड्रेनेज प्लान को भी मिली मंजूरी

गुरूग्राम में नई मेट्रो रेल लाइन के अलावा ड्रेनेज प्लान को भी मिली मंजूरी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की चौथी बैठक में गुरुग्राम के हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी/रैपिड मेट्रो तक मेट्रो रेल कनेक्टिविटी के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट  को मंजूरी दे दी गई। इस मार्ग पर मेट्रो रेल कनेक्टिविटी से सडक़ों पर यातायात का दवाब कम होने के साथ- साथ वाहन संचालन की लागत और यात्रियों के समय में भी काफी बचत होगी।

इस बैठक में प्राधिकरण ने गुरुग्राम के लिए 160 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत की एक व्यापक ड्रेनेज प्लान को भी मंजूरी प्रदान की। बैठक में बताया गया कि मेट्रो परियोजना हरियाणा मास रैपिड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एचएमआरटीसी) द्वारा लागू की जाएगी। मेट्रो रेल लाइन की कुल लंबाई 31.11 किलोमीटर है और इसमें 25 स्टेशन और छ: इंटरचेंज स्टेशन होंगे।

2023 से नई मेट्रो रेल लाइन को शुरू करने की योजना……

इस मेट्रो लाइन के निर्माण पर अनुमानित लागत 5126 करोड़ रुपये होगी और इसके वर्ष 2023 में चालू किए जाने की संभावना है। इस मार्ग पर जिन मेट्रो स्टेशनों का प्रस्ताव किया गया है, उनमें हुडा सिटी सेंटर, सेक्टर 45, साइबर पार्क, सेक्टर 46, सेक्टर 47, सेक्टर 48, टेक्नोलॉजी पार्क, उद्योग विहार फेज 6, सेक्टर 10, सेक्टर 37, बसई, सेक्टर 9, सेक्टर 7, सेक्टर 4, सेक्टर 5, अशोक विहार, सेक्टर 3, कृष्णा चौक, पालम विहार एक्स्टेंशन, पालम विहार, सेक्टर 23 ए, सेक्टर 22, उद्योग विहार फेज-4 और 5 तथा साइबर सिटी शामिल है।
इसके अलावा निरंतर संचालन के लिए मेट्रो कॉरिडोर और रैपिड मेट्रो के बीच ट्रैक इंटीग्रेशन पर विचार किया जाएगा। बैठक में यह भी बताया गया कि गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन सिटी बस लिमिटेड ने राज्य परिवहन प्राधिकरण को पीक आवर्स के दौरान गुरुग्राम से फरीदाबाद तक सेवाएं शुरू करने के लिए परमिट जारी करने के लिए लिखा है। इसके अलावा, गुरुग्राम से दिल्ली (धौला कुआँ और द्वारका) के लिए सेवा शुरू करने के लिए दो मार्गों की पहचान की गई है। इसके लिए 25 बसों की व्यवस्था की गई है।
सिटी बस सेवा के तहत गुरुग्राम में छ: मार्गों पर 81 बसें चल रही हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बसों के लिए मार्गों को अंतिम रूप देते समय आम जनता से सुझाव लिए जाएं ताकि अधिकतम लोग इस बस सेवा का लाभ उठा सकें। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अधिकतम जल की स्टोरेज हेतु गुरुग्राम के लिए जीरो ड्रेन आउट सिस्टम को तैयार करें। बैठक में यह भी बताया गया कि गुरुग्राम के लिए एक व्यापक ड्रेनेज योजना को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा।

गुरूग्राम में रिचार्ज कुओं का भी होगा निर्माण…….

योजना में जल संचयन संरचनाएं, तालाब और क्रीक के चैनलाइजेशन और लेग-4 (वाटिका चौक, सोहना रोड पर रेलवे कल्वर्ट-61 तक) का निर्माण और एसपीआर से रेलवे कल्वर्ट 61 से रिचार्ज कुओं का निर्माण शामिल होगा। इस उद्देश्य के लिए अगले दो वर्षों में 160 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी। बैठक में बताया गया कि जिले में कुछ जल निकायों का जीर्णोद्घार किया जा रहा है और इसके लिए जल निकायों को स्टोर्म वाटर डे्रनेज के साथ जोड़ा जा रहा है। बैठक में यह भी बताया गया कि गुरुग्राम में 100 वर्ग मीटर से अधिक छत वाले सभी आवासीय भवनों में वर्षा जल संचयन प्रणाली होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं कि भवनों में स्थापित जल संचयन प्रणाली को क्रियाशील बनाया जाए।
इसी प्रकार, जिन लोगों ने अभी तक वर्षा जल संचयन प्रणाली स्थापित नहीं की है, उन्हें ऐसी व्यवस्था करने के लिए कहा गया है, जिसके लिए नगर निगम द्वारा दरें भी तय कर दी गई हंै। बैठक में यह भी बताया गया कि जीएमडीए ने जीएमडीए और हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड (एचएसएएमबी) द्वारा फूल मण्डी के निर्माण हेतु विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) को पट्टे पर देने के लिए सेक्टर 52-ए, गुरुग्राम में 8 एकड़ भूमि के आवंटन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

About admin

Check Also

कोविड-19 के मद्देनजऱ मंडी बोर्ड द्वारा गेहूँ की खरीद सम्बन्धी मसलों के निपटारे के लिए विशेष कंट्रोल रूम स्थापित

     *   किसानों और आढ़तियों की सुविधा के लिए राज्य के सभी 22 जि़लों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share