Friday , January 22 2021
Breaking News
Home / Breaking News / अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद नहीं बच पायेगा आतंक का आका मसूद अजहर !

अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद नहीं बच पायेगा आतंक का आका मसूद अजहर !

मसूद अजहर पर बैन को लेकर यूएनओ में लाया गया प्रस्ताव……..

 

पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका और जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर पर अंतरराष्ट्रीय शिकंजा कसता जा रहा है। मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने को लेकर संयुक्‍त राष्‍ट्र  यानि यूएन की सुरक्षा परिषद में प्रस्‍ताव लाया गया है। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने ये प्रस्ताव पेश किया है। इस प्रस्ताव में पुलवामा में हुये आत्मघाती आतंकी हमले का भी जिक्र किया गया है। जिसको लेकर जैश ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। दीनों देशों की ओर से लाए गये इस प्रस्ताव में मसूद की यात्राओं पर प्रतिबंध लगाने और उसकी सारी संपत्ति को फ्रीज करने की मांग भी की गई है। दरअसल इस तरह का प्रस्ताव पहले भी लाया जा चुका है और ये चौथी बार है जब इस तरह का प्रस्ताव लाया गया है। इससे पहले इस तरह के प्रस्ताव पर चीन की ओर से अड़ंगा डाला गया है और इस बार भी चीन की ओर से इस प्रस्ताव पर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

 

वहीं ख़बर ये भी है कि दोनों देशों की ताजा स्थिति को लेकर भारत के एनएसए अजीत डोभाल ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से बात की है और अमेरिकी विदेश मंत्री ने जैश-ए-मोहम्मद के कैम्पों पर भारत के हमले का समर्थन किया है। इसके अलावा भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को वापस लाने के लिये पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग की ओर से पाकिस्तान के विदेश मंत्री को पत्र भेज दिया गया है। सरकार की ओर से जेनेवा संधि के तहत अभिनंदन को वापस लाने की कोशिशें जारी हैं।

 

देश के बहादुर जवान पायलट अभिनंदन की वापसी को लेकर पूरा देश एकजुट होकर बोल रहा है कि अभिनंदन को वापस लाया जाये। ट्वीटर पर सभी बॉलीवुड हस्तियों ने भी लिखा है कि पूरा देश अभिनंदन की बहादुरी को सलाम करता है और अभिनंदन को सुरक्षित वापस लाया जाये। वहीं अभिनंदन के पिता ने भी जो कि खुद वायु सेना में फायटर पायलट रहे हैं उन्होनें भी अभिनंदन के सकुशल वापसी की उम्मीद जताई है। 

 

दोनों देशों के बीच तनाव को देखते हुये जम्मू कश्मीर और पंजाब के सरहदी इलाकों में सेना का जमावड़ा है। पंजाब के सरहदी गांवों में ये कहा गया है कि रात को लाईट ना जलाई जाये। हालांकि किसी को गांव छोड़ने के बारे में नहीं कहा गया है लेकिन गुरदासपुर के सरहदी गांवों में कुछ लोग अपना सामान लेकर रिश्तेदारों के पास जाने लगे हैं।

About admin

Check Also

KEJRI THE BIGGEST HYPOCRITE, LOT OF DIFFERENCE BETWEEN HIS SAYING AND DOING: DHARAMSOT

CHANDIGARH (Raftaar News) Lashing out at Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal for his double speak …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share