Monday , September 21 2020
Breaking News
Home / Breaking News / परिजनों को एयर शो के बाद लौट आने का वादा किया था लेकिन लौटेगा तिरंगे में

परिजनों को एयर शो के बाद लौट आने का वादा किया था लेकिन लौटेगा तिरंगे में

मम्मी-पापा को कहा था कि आप मेरा एयर-शो लाइव जरूर देखना मगर दिखाई दिया मौत का लाइव वीडियो

विंग कमांडर साहिल गांधी ने सोमवार सुबह 9:30 बजे परिजनों से बात करके कहा था कि वह उसका एयर शो लाइव जरूर देखें जिसके बाद घर आने का वादा किया था। लेकिन परिजन नहीं जानते थे कि आज उनकी अपने बेटे से आखरी बार बात हो रही है और इसके बाद उसे देख भी नहीं पाएंगे। बेटे की मौत के बाद उनकी मां डॉ सुदेश गांधी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं दूसरी तरफ पिता मदन मोहन गांधी भी पूरी तरह से गुमसुम है। पिता जब भी बोलते हैं तो कहते हैं कि ..शो के बाद आने का वादा किया था और फिर आवाज आंसुओं में दब जाती है। फिलहाल गांधी दंपति को उनके मित्र और परिजन ही हौसला देने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि साहिल की पत्नी और भाई भाभी विदेश में है जिन्हें सूचना दे दी गई है और परिजनों का कहना है कि वो वहां से रवाना हो चुके हैं।
शहीद विंग कमांडर साहिल गांधी हिसार के हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में केंपस स्कूल के छात्र रहे हैं और उनकी मां सुदेश गांधी हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में फैमिली रिसोर्स मैनेजमेंट में विभागाध्यक्ष रही है और इनका बड़ा भाई नितिन गांधी  और भाभी जिनका नाम रिके हैं वर्तमान में स्विट्जरलैंड रहते हैं। शहीद साहिल गांधी के  पिता मदन मोहन गांधी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से मैनेजर के पद पर रिटायर्ड है। विंग कमांडर साहिल गांधी विवाहित थे और उनकी पत्नी हिमानी अमेरिका में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर तैनात है कंपनी ने  3 साल पहले  ही उन्हें विदेश भेजा था। शहीद विंग कमांडर साहिल गांधी और उनकी पत्नी को एक 5 साल का बेटा भी है जिसका नाम रिहान है। कमांडर साहिल गांधी की शादी 10 साल पहले हुई थी।

हर रोज अपने माता पिता से होती थी वीडियो कॉलिंग के जरिए बातचीत

विंग कमांडर साहिल गांधी हर रोज अपने माता पिता से वीडियो कॉलिंग के जरिए बातचीत करते थे और उनकी अंतिम बार 24 घण्टे पहले सोमवार सुबह 9:30 बजे अपने परिजनों से बात हुई थी। शहीद विंग कमांडर साहिल गांधी अंतिम बार अपने घर दिवाली पर आया था। इसके बाद उनकी परिजनों से एक महीना पहले मुलाकात हुई थी जब उनकी पत्नी अमेरिका से वापिस विदर्भ लौटी थी जहाँ विंग कमांडर की ड्यूटी थी।
विंग कमांडर साहिल गांधी का शव बुधवार दोपहर बाद तक हिसार पहुंचने की संभावना है। मदन मोहन गांधी के मित्र डॉ एम एस यादव ने बताया कि शव को प्राप्त करने में कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद ही बुधवार को वहां से बाय एयर दिल्ली लाया जा सकेगा, जहां से उसे हिसार लेकर आएंगे। अगर सोचे गए समय तक प्रक्रिया पूरी हो पाती है तो शव का अंतिम संस्कार शाम तक होने की उम्मीद है।
साहिल गांधी ने अपनी शिक्षा हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के अंदर स्थित केंपस स्कूल से हासिल की थी और यहां से बाहरवीं पास करते ही उनका एनडीए में सिलेक्शन हो गया। एनडीए की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद वर्ष 2014 में उन्हें सूर्य किरण एयरोबैटिक्स में जॉब मिल गई। विंग कमांडर साहिल गांधी जिस एच यू केंपस स्कूल में पढ़े उसी स्कूल में उनकी पत्नी हिमानी भी जूनियर थी।

Report By- रुद्रा राजेश कुण्डू, हिसार

About admin

Check Also

पंजाब सरकार द्वारा 9वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को अपने माता-पिता की लिखित सहमति के बाद ही कंटेनमैंट जोन के क्षेत्रों से बाहर स्कूल जाने की आज्ञा

   *   कौशल प्रशिक्षण के लिए राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थाओं, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं और राष्ट्रीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share