Tuesday , October 20 2020
Breaking News
Home / Photo Feature / गुरूग्राम के 8 गांवों की जमीन जलमग्न-समाजसेवी संस्था ने सरकार से लगाई गुहार

गुरूग्राम के 8 गांवों की जमीन जलमग्न-समाजसेवी संस्था ने सरकार से लगाई गुहार

गुरुग्राम के 8 गावों की 5500 एकड़ में फसल हुई जलमग्न

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ 8 गावों की 5500 एकड़ जमीन पर सीवर पानी जमा होने का मामला।  ये मामला  इतना गरमाया की हरियाणा सरकार और दिल्ली सरकार ने इस समस्या पर किसानों को जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया है। दरअसल एक एनजीओ परिवर्तन संघ के अध्यक्ष दौलताबाद के रहने वाले समाजसेवी राकेश जांघू ने जलमग्न का वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया था। ये वीडियो देखते ही देखते वायरल हो गया और तकरीबन 6 लाख से ज्यादा लोगो ने देखा और तकरीबन 18 हज़ार लोगो ने शेयर किया।
राकेश जांघू के मुताबिक 8 गावों के 2500 किसान परिवार इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं। ना तो हरियाणा सरकार और ना दिल्ली सरकार इस ओर ध्यानं दे रही हैं और अगर सरकारों का यही रवैया रहा तो ये सीवर का गंदा पानी जो की नजफगढ ड्रेन से होकर सीधा किसान को सालों से बदहाल किये हुए है का दायरा लगातार बढ़ता जायेगा। इसको लेकर किसानों और परिवर्तन संघ ने दिल्ली और हरियाणा सरकार को चार सूत्री मांग पत्र सौंप कर कार्रवाई करने की मांग की है।
आपको बता दें कि साइबर सिटी के दौलताबाद,चंदू,बुढेरा धनकोट,मक्डोला, खेड़की माजरा,मोहम्मदपुर हेडी,धरमपुर,की 5500 एकड़ जमीन पर नजफगढ ड्रेन का सीवर युक्त पानी सिर्फ इसलिए भी जमा है क्योकि गुरुग्राम से लगते इस ड्रेन को सरकारी अनदेखी के चलते पक्का तक नही किया गया है। दिल्ली की तरफ से यहां अस्थाई तौर पर ही सही लेकिन इंतज़ाम किये गए हैं , इसके चलतें नजफगढ़ ड्रेन से लगते दिल्ली के किसान आज खुशहाल हैं जबकि गुरुग्राम के किसान सरकारी लापरवाही के चलते बदहाल। देखना होगा कि हरियाणा की सरकार इस मसले पर कब जागती है और इन गांवों के लोगों को राहत मिलती है।

गुरुग्राम से सूरज दुहन की रिपोेर्ट

About admin

Check Also

भारतीय चुनाव आयोग ने कोविड -19 के दौरान स्टार प्रचारकों की संख्या घटाई

चंडीगढ़ (पीतांबर शर्मा) : कोविड -19 महामारी को और फैलने से रोकने के मद्देनजऱ भारतीय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share